कोरोना वायरस का ख़ौफ़ झेल रहे विश्व के कई देशों में भारत भी एक है. यहां संक्रमित लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. 

अभी ताज़ा रिपोर्ट्स के अनुसार, आगरा की रहने वाली 25 वर्षीय महिला और उनके पति दोनों को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है. महिला का पति गूगल के बेंगलुरु ऑफ़िस में कार्यरत है और पहले उसमें संक्रमण पॉज़िटिव पाया गया था. 

economictimes

TOI की ख़बर के अनुसार, दोनों की शादी अभी हाल ही में फरवरी में हुई थी, जिसके बाद दोनों पति-पत्नी हनीमून मनाने इटली, ग्रीस और फ़्रांस गए थे. जिसके बाद वो 27 फ़रवरी को वापिस मुंबई एयरपोर्ट लैंड हुए और वहां से बेंगलुरु के लिए उड़ान भरी. 

हालांकि महिला के पति को 7 मार्च को ही कोरोना वायरस पॉज़िटिव डिटेक्ट कर लिया गया था. दोनों को ही बेंगलुरु में क्वारंटाइन में रहने को कहा गया था. 

बाद में, महिला ने अपने मायके फ़ोन कर अपने पिता को सारी जानकारी दी, जिसके बाद उनके पिता के विनती करने पर महिला 8 मार्च को अपने घर आगरा वापिस आ गई.

महिला ने बेंगलुरु से नई दिल्ली के लिए उड़ान भरी और नई दिल्ली से आगरा ट्रेन से गई. 

इसके बाद ही अलीगढ़ मेडिकल कॉलेज और लखनऊ के KGMU अस्पताल ने महिला के ख़िलाफ़ अलर्ट जारी किया कि उसमें COVID-19 संक्रमण पाने की बहुत अधिक संभावना है. इस अलर्ट के बाद आगरा के सीनियर डॉक्टर्स हरक़त में आये. 

महिला आगरा में अपने 8 परिवारजनों के साथ रह रही थी. सभी लोगों को आइसोलेट किया गया है. महिला को वायरस से संक्रमित पाया गया है और वो इस वक़्त आगरा के S.N. कॉलेज में एडमिट हैं.   

आगरा के चीफ़ मेडिकल ऑफ़िसर डॉ. मुकेश कुमार वत्स का कहना है कि महिला के परिवार वाले इस काम में उनका बिलकुल सहयोग नहीं दे रहे थे. डिस्ट्रिक्ट मेजिस्ट्रेट के हस्तक्षेप के बाद जाकर कुछ बात बनी. 

इस दौरान, अधिकारीयों का ये भी कहना है कि महिला जिस प्लेन से सफर कर रही थी, उन लोगों को भी वायरस होने का ख़तरा है. वहीं दूसरी ओर आगरा के पूरे रेलवे स्टेशन और कैंट एरिया को सैनिटाइज़ किया जा रहा है.