गुजरात में कांग्रेस ने एक बीजेपी कार्यकर्ता पर एक प्रवासी मज़दूरों से ट्रेन का 3 गुना किराया न देने पर मारपीट का आरोप लगाया है. ये घटना कथित तौर पर सूरत की बताई जा रही है.

Source: indiatoday

गुजरात कांग्रेस नेता सरल पटेल ने ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा, गुजरात के सूरत से चौंकाने वाला वीडियो. भाजपा कार्यकर्ता राजेश वर्मा ने झारखंड के 100 प्रवासी मज़दूरों से एडवांस में ट्रेन टिकट के लिए उसकी मूल कीमत से गुना अधिक पैसा वसूला. इस दौरान जब एक मज़दूर घर जाने के लिए प्रदर्शन करने लगा तो उसे डंडों से पीटा गया.

वीडियो में ख़ून से लहूलुहान ये मज़दूर कह रहा है कि 'उसने बीजेपी कार्यकर्ता राजेश वर्मा 1.16 लाख रुपये दिए थे, जब वो टिकट लेने गया तो राजेश वर्मा ने पैसे और टिकट देने से साफ़ तौर पर इंकार कर दिया. जब उसने इस बात पर आपत्ति जताई तो राजेश वर्मा और उसके लोगों उसे लाठी डंडों से जमकर पीटा.

राजेश वर्मा ने मेरे साथ सबसे ज़्यादा मारपीट की है. मुझे इतना ज़्यादा मरा गया कि मुझसे ठीक से चला भी नहीं जा रहा. मैंने राजेश वर्मा को पैसे दिए थे मेरे पास इस बात के सबूत भी हैं.   

इस दौरान एक अन्य मज़दूर का कहना था कि 'हमारे पास टोकन नंबर होने के बावजूद हमें टिकट नहीं मिल पाया, जबकि जिन लोगों के पास टोकन नंबर भी नहीं था, वो ट्रेनों में सवार हो गए. जब हम 3 गुना अधिक पैसा दे चुके हैं, तो हमें हमारे टिकट मिलने चाहिए. हम सब यहां मुसीबत में हैं. हमारे पास घर वापस जाने के अलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं है.

Source: dailymailindia

राजेश वर्मा (बीजेपी कार्यकर्ता)

एक अन्य ट्वीट में कांग्रेस नेता सरल पटेल का कहना था कि, एक तरफ़ जहां गुजरात कांग्रेस के कार्यकर्ता ज़रूरतमंद लोगों की मदद कर रहे हैं, वहीं गुजरात भाजपा के नेता व कार्यकर्ता ग़रीबों को भगाने और उनके साथ मारपीट करने जैसा शर्मनाक काम कर रहे हैं.