ये जनाब हैं अवधेश दूबे, पेशा है ट्रेन में खिलौने बेचने का. ये खिलौने इस तरह से बेचते हैं कि ग्राहक ना-नुकुर के बाद अंत में ख़रीद ही लेता है. अवधेश अपनी इसी कला के चलते सोशल मीडिया पर काफ़ी फ़ेमस गए हैं. इतने फ़ेमस कि लोग उनके साथ सेल्फ़ी लेने के लिए उतावले रहते हैं.

Source: naidunia

अवधेश दूबे को अब सूरत पुलिस ने ट्रेन में बिना लाइसेंस के सामान बेचने के आरोप में गिरफ़्तार किया है. अवधेश को शुक्रवार को सूरत रेलवे स्टेशन पर ट्रेन नंबर 17204 के स्लीपर कोच से गिरफ़्तार किया.

Source: youtube

अवधेश दूबे बनारस के रहने वाले हैं. दो साल पहले गुजरात के वलसाड गए और वही रहने लगे. अवधेश पिछले दो साल से वापी और सूरत के बीच ट्रेन में यात्रियों को खिलौने बेचने का काम कर रहे थे. इस दौरान वो अपने ख़ास अंदाज़ में खिलौने बेचने के चलते लोगों के बीच काफ़ी फ़ेमस हो गए थे.

Source: amarujala

दरअसल, अवधेश के कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर काफ़ी लोकप्रिय हो गए थे. जिसमें ग्राहकों से बात करने का अवधेश का तरीका काफ़ी प्रभावशाली नज़र आता है. इन वीडियो में वो नेताओं पर टिप्पणी करते हुए भी नज़र आ आते हैं. जो सामान बेचने का उनका एक ख़ास अंदाज़ भी है.

रेलवे ने बताया कि अवधेश की गिरफ़्तारी नेताओं की आवाज निकालने के चलते नहीं बल्कि रेलवे के नियमों का उल्लंघन करने की वजह से हुई है. अवधेश के ख़िलाफ़ सीआर 1228/19 अंडर सेक्शन 144(ए), 145(बी) और 147 रेलवे एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है.

Source: jagran

रेलवे ने आगे कहा कि 'सूरत में मई के महीने में अवधेश के अलावा आठ अन्य अवैध तरीके से सामान बेचने वालों को भी गिरफ़्तार किया गया है. अवधेश पहले भी 11 बार रेलवे के नियमों का उल्लंघन कर चुका है.

Source: ibtimes

गिरफ़्तारी के बाद अवधेश ने माना कि वो साल 2005 से ट्रेनों में अवैध तरीके से सामान बेच रहा था. रेलवे मजिस्ट्रेट ने इस मामलें में अवधेश को दस दिन की सजा के साथ 3500 रुपये का जुर्माना लगाया है.