सोशल मीडिया के इस दौर में आजकल लोगों पर ख़ुद के वीडियो बनाकर शेयर करने का भूत सवार है. लेकिन इन वीडियो को बनाते समय वो कई बार जाने-अंजाने में क़ानून का उल्लंघन कर देते हैं. कई बार इसका खामियाज़ा भी उन्हें भुगताना पड़ता है. गुजरात में एक महिला कॉन्सटेबल के साथ भी ऐसा ही हुआ. इन्होंने पुलिस स्टेशन में डांस करते हुए अपना एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया. वीडियो के वायरल होने के बाद इस कॉन्सटेबल को सस्पेंड कर दिया गया.

Source: govtjobguru

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इस महिला कांस्टेबल का नाम अर्पिता चौधरी है. वो मेहसाणा ज़िले के लंघनाज पुलिस थाने में तैनात है. इन्होंने टिक-टॉक पर अपना एक वीडियो शेयर किया था. इस वीडियो में वो जेल के सामने एक गाने पर डांस करती दिखाई दे रही थीं.

अर्पिता का ये वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो गया. इसकी जानकारी जब अधिकारियों को लगी, तो उन्होंने तुरंत एक्शन लेते हुए अर्पिता को सस्पेंड कर दिया.

मेहसाणा के पुलिस उपाधीक्षक मंजीत वंजारा ने इस बारे में बात करते हुए कहा- 'अर्पिता ने नियमों का उल्लंघन किया है. एक तो थाने के अंदर वर्दी नहीं पहनना और दूसरा ड्यूटी पर सेलफ़ोन का इस्तेमाल करना. इसके लिए उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है और उनके खिलाफ़ जांच शुरू कर दी गई है.'

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि, अर्पिता चौधरी को साल 2016 में रिक्रुट किया गया था. उन्होंने 20 जुलाई को थाने में ये वीडियो शूट किया था. इसके बाद उन्होंने इसे व्हाट्सएप और टिक-टॉक जैसी सोशल मीडिया Apps पर शेयर कर दिया था.