19वीं सदी के महान आविष्कारक थॉमस एल्वा एडिसन को हम सभी उनके आविष्कारों के लिए जानते हैं. एडिसन के नाम इलेक्ट्रिक बल्ब, फ़ोनोग्राफ़, फ़िल्म कैमरा और इलेक्ट्रिक पवार डिस्ट्रिब्यूशन जैसी कुल 1093 चीजें पेटेंट हैं.

Source: google

अब एडिसन का ये रिकॉर्ट टूट गया है. ये कारनामा करने वाले हैं अमेरिका में रहने वाले भारतीय मूल के आविष्कारक गुरतेज संधू. गुरतेज ने 1325 चीजों के पेटेंट हासिल कर एडिसन के 1093 पेटेंट का रिकॉर्ड तोड़ दिया है.

Source: ytimg

अमेरिका के इडाहो में रहने वाले गुरतेज संधू दुनिया भर में सबसे अधिक खोज करने वालों की सूची में अब 7वें स्थान पर आ गए हैं. संधू अविष्कारक होने के साथ 'माइक्रोन टेक्नोलॉजी' कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट भी हैं.

कौन हैं गुरतेज संधू

लंदन में जन्मे गुरजेत संधू IIT दिल्ली से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिग्री हासिल करने के बाद आगे की पढ़ाई के लिए विदेश चले गए. साल 1990 में उन्होंने 'यूनिवर्सिटी ऑफ़ नॉर्थ कैरोलिना' से भौतिकी में पीएचडी की उपाधि हासिल की.

Source: patrika

पढ़ाई ख़त्म करने के बाद गुरतेज को अमेरिका की कई बड़ी कंपनियों से जॉब के ऑफ़र मिले. लेकिन उन्होंने 'माइक्रोन टेक्नोलॉजी' को चुना. गुरतेज ने जिस वक़्त माइक्रोन जॉइन की उस समय ये कंपनी अन्य कंपनियों से काफ़ी पीछे थी. उस दौर में माइक्रोन कंप्यूटर मेमोरी बनाने वाली कंपनियों की लिक्ट में 18वें नंबर पर थी.

Source: proactiveinvestors

आज माइक्रोन दुनिया की जानी मानी कंपनी है. कंपनी के पास तकरीबन 40000 पेटैंट हैं. इनमे से 1,325 पेंटेंट अकेले गुरतेज संधू के नाम हैं. गुरतेज को टेक्नोलॉजी में महारत हासिल है.

Source: kinja

गुरतेज की इसी क़ाबिलियत को देखते हुए 'इंस्टीट्यूट ऑफ़ इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर्स' ने उनको साल 2018 के 'एंड्रयू एस ग्रोव अवार्ड' से सम्मानित किया.

गुरतेज आज हम भारतीयों के लिए प्रेरणास्रोत हैं. 1,325 पेंटेंट हासिल करने पर हमें उन पर गर्व है.