कोरोना महामारी से लड़ने के लिए देशभर के गुरुद्वारों ने अपने दरवाजे पीड़ितों के लिए खोल दिए हैं. कहीं ऑक्सीजन का लंगर लगाया जा रहा है तो कहीं कोविड केयर सेंटर खोले जा रहे हैं. इसी बीच गुरुद्वारा तख्त श्री हजूर साहिब ने बहुत बड़ा ऐलान किया है. इसकी प्रबंधक कमेटी ने ऐलान किया है कि उनके पास पिछले 50 सालों में जितना भी सोना दान में आया है वो उसे नांदेड़ में एक अस्पताल और मेडिकल कॉलेज बनाने के लिए दान करेंगे.

indiatoday

ये भी पढ़ें: ये हैं दुनिया के सबसे महंगे गुरुद्वारे, जिनकी भव्य और विशाल इमारतें देखकर मन खुश हो जाएगा

गुरुद्वारा तख्त श्री हजूर साहिब (Gurudwara Takht Shri Hazoor Sahib) सिख धर्म के 5 तख्तों में से एक है. ANI की एक रिपोर्ट के मुताबिक, गुरुद्वारे के प्रबंधक कमेटी ने बताया कि वर्तमान में नांदेड़ के लोगों को इलाज के लिए मुंबई या फिर हैदराबाद जाना पड़ता है. इसलिए यहीं एक आला दर्जे का अस्पताल बन जाने से यहां के लोगों को दूर-दूर जाना नहीं पड़ेगा, बल्कि बाहर से लोग यहां इलाज करवाने आएंगे.

wikipedia

तख्त जत्थेदार संत बाबा कुलवंत सिंह ने इस बारे में बात करते हुए कहा-‘हमने पिछले 5 दशक में जो सोना दान स्वरूप एकत्र किया है उसे अब सेवा में लगाने का समय है. पहले हम इससे गुरुद्वारे बनाया करते थे. अब इससे एक बड़ा अस्पताल और मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा. सिख समुदाय संकट में लोगों की मदद करता आया है और इस तरह बहुत से लोगों की मदद होगी. ‘

गुरुद्वारा तख्त श्री हजूर साहिब में पहले ही एक कोविड केयर सेंटर खोला जा चुका है. गौरतलब है कि कोरोना काल में देशभर के तमाम गुरुद्वारे लोगों की हर संभव मदद करने में जुटे हैं. कहीं ऑक्सीजन सिलेंडर से लेकर दवाइयां तक लोगों तक पहुंचाई जा रही हैं. दिल्ली के बंगला साहिब गुरुद्वारे में हाल ही में कोरोना से पीड़ित मरीजों को घर में टिफ़िन पहुंचाने की सेवा प्रारंभ की है.