देश में हर दिन कोरोना मरीज़ों (Covid patients) की संख्या बढ़ती जा रही है. इस समय हर इंसान कोविड मेडिसन और इंजेक्शन को लेकर काफ़ी परेशान है. ऐसे हालातों में हर कोई एक-दूसरे की संभव मदद कर रहा है. यहां तक कि मुश्किल हालात में एक चोर तक का दिल पिघल गया. चोरी की ये घटना हरियाणा से सामने आई है.

Covid 19
Source: indiatimes

ये क़िस्सा जींद ज़िले का है. 21 अप्रैल को नागरिक अस्पताल के पीपी सेंटर से एक चोर ने कोविड-19 की क़रीब 1700 वैक्सीन चोरी कर डाली थी. चोर को नहीं पता था कि अस्पताल से चोरी किये गये पैकेट में वैक्सीन है. वहीं जैसे ही चोर को इसकी जानकारी हुई, उसने मानवता दिखाते हुए इसे लौटा दिया. चोरी का सामान वापस करते हुए उसने एक ख़त भी लिखा.

vacine dose
Source: reuters

इस ख़त में उसने लिखा कि 'सॉरी, नहीं पता था की कोरोना की दवा है.' रिपोर्ट के मुताबिक, हॉस्पिटल के पीपी सेंटर में 1710 वैक्सीन को फ़्रिज में सुरक्षित रखा गया था. पर चोर ने रात में सेंटर में सेंध मार कर वैक्सीन चुराई. इसके साथ ही वहां से कुछ फ़ाइलें भी ग़ायब हुई हैं. वैक्सीन मिल गई है, लेकिन अब तक ग़ायब हुई फ़ाइलों का कोई अता-पता नहीं है.

Thief Letter
Source: India.Com

सिविल लाइन थाना पुलिस CCTV Camera की मदद से मामले की जांच में जुटी है. वहीं दूसरी ओर चोर का ख़त सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल हो रहा है. हर कोई चोर की ईमानदारी की तारीफ़ कर रहा है. ये चोर की इंसानियत थी, जो उसने इंसानों के ख़ातिर वैक्सीन लौटा दी. वो चाहता, तो इस दवा को महंगे दामों में बेच भी सकता था. छोटा सा चोर हमें बड़ी इंसानियत सिखा गया.

Covid 19

इस कठिन दौर में आप भी एक-दूसरे की मदद करने की कोशिश करें. ज़रूरी नहीं है कि ये मदद पैसों से की जाये. आप लोगों को शारीरिक मदद भी दे सकते हैं. विश्वास है कि पिछली बार की तरह से जंग भी हम आसानी से जीत जायेंगे.