बचपन में आपने वो कहानी सुनी ही होगी. शेर आया, शेर आया…शेर नहीं आया क्योंकि ये एक अफ़वाह थी, लेकिन एक दिन शेर सच में आ जाता है और ख़बर देने वाले को ही खा जाता है. 

Source: twitter

कुछ इसी तरह की मिलती-जुलती ख़बर यूके से भी सामने आई है. यूके की केंट पुलिस को शहर के बाहरी इलाके में एक टाइगर के घूमने की सूचना मिली. इसके बाद पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए हेलीकॉप्टर से उसकी छानबीन शुरू दी.

क्या है पूरा मामला? 

द गार्डियन की ख़बर मुताबिक़, ये घटना केंट के एक छोटे से गांव Ightham की है. इस इलाके के एक शख़्स ने पुलिस को फ़ोन कर टाइगर के होने की सूचना दी. इसके बाद पुलिस ने टाइगर को पकड़ने के लिए ज़मीन के साथ-साथ आसमान से भी नज़र बनाए रखने की योजना बनाई. 

आख़िरकार कई घंटों की कड़ी मशक्क़त के बाद पुलिस फ़ोर्स ने इस टाइगर को पकड़ ही लिया. लेकिन जब वो टाइगर के पास पहुंचे तो पता चला कि वो टाइगर नहीं बल्कि टाइगर की मूर्ति है.

बुज़ुर्ग महिला ने बनाई थी मूर्ति 

दरअसल, टाइगर की ये मूर्ति 85 वर्षीय जुलियट सिंपसन नाम की बुज़ुर्ग महिला ने बनाई थी, जो लगभग 20 वर्ष पुरानी बताई जा रही है. इस दौरान जब उन्हें पता चला कि पुलिस उनकी इस आर्ट को असली टाइगर समझकर यहां आई है तो वो काफ़ी देर तक हंसती रही.

Source: theguardian

द गार्डियन से बातचीत में बुज़ुर्ग महिला का कहना था कि 'मेरे बेटे ने फ़ोन करके बताया कि हथियारों से लैस कुछ पुलिसवाले घर की ओर आ रहे हैं. इस बीच मैंने आसमान में उनका हेलीकॉप्टर देख लिया था. इसके बाद क़रीब 10 पुलिसवाले मेरे पास आए और घर के पीछे टाइगर के बैठे होने की बात कहने लगे. इसके बाद मैंने उनसे कहा कि क्या आप टाइगर से मिलना चाहते हैं?

Source: twitter

जब मैं पुलिसकर्मी को टाइगर के पास लेकर गई तो वो मेरी इस आर्ट को देखकर हैरान रह गए. बीते 20 वर्षों से टाइगर की ये मूर्ति एक लोकल लैंडमार्क है. इससे पहले कभी इस तरह की दिक्कत नहीं हुई. पुलिसकर्मियों को पहली नज़र में ये टाइगर रियल ही लगा.