देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में बिजली के भारी भरकम बिलों से न सिर्फ़ आम जनता, बल्कि बॉलीवुड सितारे भी परेशान हैं. कई बॉलीवुड सितारों का मई महीने का बिल लाखों में आया है. आम लोगों का बिजली का बिल भी 10 से 15 गुना अधिक आया है.

Source: indiatoday

कोरोना के बाद अब मुंबईवासी भारी भरकम बिजली के बिल से हुए परेशान  

बताया जा रहा है कि मुंबई में इस महीने के बिजली के बिल में कई तरह की गड़बड़ियां पाई जा रही हैं. पिछला बिल चुकाने के बावजूद किसी का 2 महीने, तो किसी का 3 महीने का बिल एक साथ भेज दिया गया है. किसी के बिल में अप्रैल महीने की जगह मई महीने का बिल जोड़ दिया गया है, तो किसी के टोटल बिल में ही गड़बड़ी पाई जा रही है. 

Source: businessinsider

बिजली के भारी भरकम बिल आने से बॉलीवुड सेलेब्रिटी भी ख़ासे परेशान दिख रहे हैं. इसे लेकर बॉलीवुड सेलेब्स सोशल मीडिया पर नाराज़गी व्यक्त कर रहे हैं. एक्ट्रेस तापसी पन्नू, रेणुका शहाणे और कार्तिका नायर इस मसले को सोशल मीडिया पर उठा चुके हैं. दक्षिण फ़िल्मों की अभिनेत्री कार्तिका नायर का जून महीने का बिल लगभग 1 लाख रुपये आया है.

Source: kajrii

कार्तिका नायर ने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है- 'अडानी इलेक्ट्रिसिटी' मुंबई में क्या घोटाला कर रही है? जून महीने में बिजली का बिल 1 लाख रुपए के आसपास आया है. ये बिल उन्होंने अंदाज़न ही भेज दिए हैं, क्योंकि लॉकडाउन में मीटर रीडिंग तो ली ही नहीं. मुंबई में ऐसी बहुत सी शिकायतें सुनने में आ रही हैं'.

हालांकि, कार्तिका नायर की इस शिकायत पर 'अडानी इलेक्ट्रिसिटी' ने उन्हें अलग से अपनी शिकायत दर्ज करवाने का आग्रह किया है. इसके साथ ही इस मामले को जल्द से जल्द निपटाने का आश्वासन भी दिया है.

एक्ट्रेस रेणुका शहाणे ने जताई नाराजगी 

रेणुका शहाणे ने सोशल मीडिया पर एक ट्वीट के ज़रिए बताया कि इस महीने उनका बिजली का बिल काफ़ी ज़्यादा आया है. मई महीने में हमारा बिजली का बिल 5510 रुपये आया था. जून महीने में मुझे मई व जून का जोड़कर 29,700 रुपये का बिल भेजा गया है. आपने जून का बिल 18080 रुपये बताया है जबकि मई महीने में मेरा बिल 5510 रुपये आया था, फिर 5510 रुपये का बिल 18080 रुपये कैसे हो गया?

एक्ट्रेस तापसी पन्नू का अप्रैल महीने में बिल 4390 रुपये का आया था, मई महीने में 3850 रुपये, जबकि जून महीने में 36000 रुपये का बिल भेजा गया है.  

इस पर महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने कहा है कि, मुंबई के 2.30 करोड़ बिजली उपभोक्ताओं के साथ किसी भी प्रकार की चीटिंग नहीं हुई है. वास्तव में MSEDCL को रीडिंग के अभाव में तकरीबन 3500 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है. लोग चाहें तो ऑनलाइन भी अपने बिजली बिल चेक कर सकते हैं. एकमुश्त भुगतान के बजाय लोग इसे इंस्टॉलमेंट में भी भर सकते हैं.

Source: aajtak

बताया जा रहा है कि मुंबई में बिजली के बढ़े हुए बिल आने की संभावना पहले से जताई जा रही थी. 'अदानी इलेक्ट्रिसिटी' जैसी बिजली कंपनियों ने कुछ दिन पहले इसकी पुष्टि भी की थी. लॉकडाउन में सभी बिजली कंपनियों द्वारा मीटर रीडिंग बंद कर दी गई और मार्च-मई के महीनों में बिल दिसंबर-फ़रवरी के महीनों में लगाए गए औसत बिलों पर आधारित थे. इस वजह से भी बिजली के बिल इस महीने अधिक हो सकते हैं.