भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर लद्दाख में हुई झड़प के दौरान हिमाचल प्रदेश के रहने वाले 21 वर्षीय जवान अंकुश ठाकुर शहीद हो गए हैं. अंकुश हमीरपुर ज़िले के कड़होता गांव के रहने वाले थे. अंकुश के शहीद होने की ख़बर से पूरे ज़िले में शोक की लहर दौड़ पड़ी है.  

Source: bhaskar

2 साल पहले ही हुए थे सेना में भर्ती 

बताया जा रहा है कि शहीद जवान अंकुश ठाकुर साल 2018 में पंजाब रेज़ीमेंट में भर्ती हुए थे. अंकुश के पिता और दादा भी भारतीय सेना में सेवाएं दे चुके हैं. 10 माह पहले ही अंकुश ने घर में रंगरूटी छुट्टी बिताकर सेना की नौकरी जॉइन की थी. 

Source: bhaskar

इस दौरान कड़ोहता गांव के प्रधान विनोद कुमार ने बताया कि, सेना मुख्यालय से उन्हें फ़ोन पर सूचना मिली है कि पंचायत का रहने वाला सैनिक अंकुश ठाकुर भारत-चीन एलएसी झड़प के दौरान शहीद हो गया है.  

उपमंडल भोरंज के एसडीएम डॉ. अमित शर्मा ने भी भारतीय जवान अंकुश ठाकुर के शहीद होने की पुष्टि की है. हमीरपुर ज़िले के डीसी हरिकेश मीणा ने भी अंकुश की शहादत की पुष्टि की है. 

Source: rediff

बता दें कि लद्दाख में भारत और चीन में सीमा विवाद को लेकर हिंसक झड़प हुई, जिसमें भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए हैं. इस हिंसक झड़प में चार और भारतीय जवानों की हालत बेहद रूप से गंभीर है. जबकि चीन के भी 40 से अधिक जवानों के हताहत होने की ख़बर है.