जो गोरा वो ख़ूबसूरत, जो काला वो बदसूरत!

हमारे देश में आज भी काले और गोरे को लेकर लोगों के मन में इसी तरह की ग़लतफ़हमियां हैं. आज भी गोरे व्यक्ति को ख़ूबसूरत, जबकि काले व्यक्ति को बदसूरत समझा जाता है. भारत में ये भ्रांतियां सदियों से ऐसी ही चली आ रही हैं. अब इसे बदलना होगा.

Source: facebook

पिछले कई सालों से कॉस्मेटिक्स कंपनियां लोगों की इसी मानसिकता का फ़ायदा उठा रही हैं. काले को चंद दिनों में गोरा कर देनी वाली क्रीम के विज्ञापन हम कई सालों से देखते आ रहे हैं. देश में कई कंपनियां अब भी धड़ल्ले से इस तरह के प्रोडक्ट बेच रही हैं.

Source: brandsynario

इस बीच देश की जानी मानी कंपनी 'हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड' ने अपनी प्रसिद्ध ब्यूटी क्रीम 'Fair & Lovely' का नाम बदलने का फ़ैसला किया है. कंपनी ने इसके नाम में से 'Fair' शब्द हटाने का फ़ैसला किया है. हालांकि, कंपनी ने अब तक इस क्रीम के नए नाम की घोषणा नहीं की है.

Source: facebook

बता दें कि पिछले कई सालों से 'हिंदुस्तान यूनिलीवर' काले को चंद दिनों में गोरा कर देने वाली ब्यूटी क्रीम 'Fair & Lovely' के ज़रिए लोगों के बीच असमानता फ़ैलाने का काम कर रही थी. इसके ख़िलाफ़ कई लोग कोर्ट का दरवाज़ा भी खटखटा चुके हैं, लेकिन कंपनी हर बार इसकी टैग लाइन को बदलकर इसे पेश कर रही थी.

'हिंदुस्तान यूनिलीवर' के बाद अब देश में इसी तरह के ब्यूटी प्रोडक्ट बेच रही कॉस्मेटिक्स कंपनियों को भी ऐसे ही फ़ैसले लेने होंगे.