पश्चिम बंगाल के सरकारी अस्पतालों में जारी हड़ताल ने एक नवजात शिशु की जान ले ली. सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही ये तस्वीर आपका मन विचलित कर सकती है. इस तस्वीर में आप एक पिता को अपने बच्चे के लिये बिलखता हुआ देख सकते हैं.

Source: Twitter

ख़बर के मुताबिक, इस बच्चे का जन्म 11 जून को हुआ था, जिसे पैदा होते ही सांस लेने में दिक्कत हो रही थी. वहीं अगले दिन बच्चे की बिगड़ती हालत को देखते हुए अस्पताल वालों ने उसे बाल-विशेषज्ञ अस्पताल के लिये रेफ़र कर दिया. जब बच्चे के पिता, अभिजीत मलिक ने इलाज के लिये अस्पतालों से संपर्क किया, तो किसी ने भी बच्चे के ट्रीटमेंट के लिये हामी नहीं भरी. सही समय पर इलाज न हो पाने के कारण एक नवजात शिशु ने दुनिया देखने से पहले ही उसे अलविदा कह दिया.

Source: aninews

अभिजीत मलिक का कहना है कि डॉक्टर्स की स्ट्राइक की वजह से उनके बच्चे की मौत हो गई. इसके साथ ही उन्होंने राज्य के स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही का आरोप भी लगाया है.

अफ़सोस है इस बात का कि जिन डॉक्टर्स की मदद से बच्चा दुनिया में आया, उन्हीं की वजह से वो दुनिया से चला भी गया. बच्चे की मौत दर्दनाक किस्सा है, जिसका कारण डॉक्टर्स से लेकर सत्ता में विराजमान अधिकारी हैं.