हैदराबाद की वेटनरी डॉक्टर गैंगरेप व हत्या मामले में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. पुलिस की मानें तो चार में दो आरोपियों ने पूछताझ के दौरान कई अन्य वारदातों में भी शामिल होने की बात कबूली थी.

Source: femina

वेटनरी डॉक्टर की हत्या के कुछ दिन बाद ही हैदराबाद पुलिस ने एक एनकाउंटर में चारों आरोपियों लॉरी चालक मोहम्मद आरिफ़ (26) और चिन्ताकुंता चेन्नाकेसावुलु (20), जोल्लु शिवा (20) और जोल्लु नवीन (20) को मार गिराया था.

Source: newsroompost

अब हैदराबाद पुलिस ने इस मामले में सनसनीखेज़ खुलासे किये हैं. पुलिस सूत्रों की मानें तो मुख़्य आरोपी आरिफ़ और चेन्नाकेसावुलु ने पूछताज के दौरान इस घटना से पहले भी तेलंगाना के तीन अलग-अलग ज़िलों रंगा रेड्डी, संगारेड्डी और महबूबनगर में तीन अन्य पीड़िताओं के साथ बलात्कार व हत्या के बाद जलाने की बात कबूल की थी.

Source: indiatoday

दरअसल, आरिफ़ और चेन्नाकेसावुलु लॉरी के ज़रिये कर्नाटक से हैदराबाद सामान ढोने का काम किया करते थे. इस दौरान इन दोनों आरोपियों ने कर्नाटक व तेलंगाना की सीमाओं के आस-पास 6 अन्य वारदातों को भी अंजाम दिया था. सिर्फ़ इतना ही नहीं आरिफ़ और चेन्नाकेसावुलु कुल 15 मामलों में भी आरोपी थे.

Source: newsroompost

इस दौरान दोनों आरोपियों ने ये खुलासा भी किया था कि उन्होंने पहली बार वेटनरी डॉक्टर को एक टोल प्लाजा के पास देखा था. तब से ही ये दोनों इस वारदात को अंजाम देने की फ़िराक में थे.

साइबराबाद पुलिस की स्पेशल टीम ने ये भी बताया है कि कर्नाटक व तेलंगाना की सीमाओं के आस-पास जहां भी वारदातें हुई थीं. वहां इन दोनों के फ़ोन की लोकेशन मिली है.