ISRO का चंद्रयान-2 मिशन सफ़लता से कुछ दूरी पर ही ठहर गया. चांद की सतह से कुछ ही दूरी पर ISRO का विक्रम लैंडर से संपर्क टूट गया. ISRO के वैज्ञानिक अभी भी विक्रम से संपर्क साधने की कोशिश कर रहे हैं.

ISRO का मिशन पूरी तरह सफ़ल नहीं हो पाया पर ISRO ने करोड़ों देशवासियों को गर्व महसूस करने की वजह दे दी.

ISRO के चेयरमैन के.सिवन का एक पुराना इंटरव्यू वायरल हो रहा है, Sun TV के इंटरव्यूर ने सिवन से पूछा,

'एक तमिलियन होकर आप इतने बड़े पोस्ट पर हैं, तमिलनाडु लोगों को क्या कहना चाहेंगे?'

इस सवाल के जवाब में सिवन ने कहा,

'सबसे पहले मैं एक भारतीय हूं. मैंने बतौर हिन्दुस्तानी ISRO जोईन किया था. ISRO में सभी क्षेत्रों के, सभी भाषाओं के लोग काम करते हैं और अपना योगदान देते हैं. पर जो भाई मुझे मानते हैं मैं उनका शुक्रगुज़ार हूं.'

सिवन के इस जवाब ने ट्विटर का दिल जीत लिया-

आज हम लोग अपनी 'अनेकता' पर ज़्यादा ध्यान दे रहे हैं, एकता को भूलते जा रहे हैं. सिवन की ये बात हर उस हिन्दुस्तानी के दिमाग़ में होनी चाहिए जिसे अपना धर्म, जाति, संप्रदाय दूसरों से ऊंचा लगता है.