म्हारी छोरियां, छोरों से बिल्कुल कम नहीं हैं...

भारतीय वायुसेना की फ़्लाइट लेफ़्टिनेंट मोहना सिंह, पहली ऐसी महिला पायलट बन गई हैं, जो दिन में हॉक एडवांस जेट में मिशन को अंजाम देने के क़ाबिल हैं. इनको भावना कंठ और अवनी चतुर्वेदी के साथ जून 2016 में लड़ाकू पायलट प्रशिक्षण के लिए लड़ाकू शाखा में चुना गया था.

Source: etimg

वायुसेना के मुताबिक, अब मोहना ‘एयर टू एयर’ और ‘एयर टू ग्राउंड’ मिशन के लिए पूरी तरह से तैयार हैं, उन्हें ट्रेनिंग के दौरान रॉकेट और हाई कैलिबर बम गिराने के साथ कई तरह के प्रशिक्षण दिए गए हैं. इस दौरान मोहना ने लगभग 500 घंटों तक उड़ान भरी, जिसमें हॉक एयरक्राफ़्ट MK 132 जेट को 380 घंटे तक उड़ाया.

Source: indianexpress

इससे पहले, फ़्लाइट लेफ़्टिनेंट भावना कंठ, दिन में लड़ाकू विमान मिग-21 में उड़ान भर कर मिशन में क़ामयाबी हासिल करने वाली पहली महिला फ़ाइटर पायलट बनी थीं. फ़िलहाल भावना बीकानेर स्थित नल बेस पर तैनात हैं.