इन दिनों देश में हर जगह बाढ़ के हालात बने हुए हैं. जगह-जगह पर लोगों को बचाने के लिए टीमें भेजी जा रही हैं. इसी के चलते कुछ दिनों पहले ही वडोदरा के एक सब-इंस्पेक्टर ने 2 साल की बच्ची को पानी से वासुदेव की तरह बचाया. तो वहीं भारी बारिश के चलते मगरमच्छ निकलने की ख़बरें सामने आईं. मुंबई और गुजरात के वडोदरा के अलावा सूरत और नवसारी ज़िले भी बाढ़ की चपेट में आ गए हैं. हाल ही में नवसारी ज़िले में बाढ़ पीड़ितों को बचाने के लिए भारतीय वायुसेना की एक पूरी टीम भेजी गई. जो मसीहा बनकर बाढ़ पीड़ितों को बचा रहे हैं. इसी बीच एक ऑफ़िसर ने पानी में आधा डूबकर एक वृद्ध महिला की जान बचाई. उस ऑफ़िसर का नाम फ़्लाइट लेफ़्टिनेंट करन देशमुख है.

IAF Rescue Elderly Lady.
Source: intoday

ये ट्वीट आप नीचे देख सकते हैं.

दरअसल, नवसारी ज़िले के मेंधर गांव में 31 लोगों के फंसे होने की ख़बर के बाद वहां वायुसेना की टीम भेजी गई. बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए वायुसेना ने 2 हेलीकॉप्टर तैनात किए. सभी लोगों को निकाल लिया गया है. मेंधर के अलावा भी कई जगह लोगों के फंसे होने की खबरें आईं हैं. उनके लिए वायुसेना ने एमआई-17 हेलीकॉप्टर भेज दिया है.

IAF Rescue People from Flood.

मौसम विभाग की मानें तो, वलसाड, नवसारी, डांग, तापी और सूरत में अभी भारी बारिश की संभावना बनी हुई है. बारिश की वजह से NDRF की कुल 8 टीमें महाराष्ट्र और गुजरात में तैनात की गई हैं.

आपको बता दें कि, शनिवार को सूरत के ओलपाड में 6 घंटे में 298 मिमी बारिश हुई, जबकि उमरपाड़ा में 204 मिमी हुई थी.