बीते रविवार को मंगलुरु से एक अजीबो-ग़रीब मामला सामने आया है. मंगलुरु की एक सोसाइटी में दोस्त को सूटकेस में डालकर अपार्टमेंट में चुपके से घुसने की कोशिश करते हुए एक छात्र पकड़ा गया.

बताया जा रहा है कि 17 साल का ये छात्र घर में अकेला महसूस कर रहा था, इसलिए पास ही में रहने वाले अपने दोस्त के घर चला गया. क़रीब 1 घंटे बाद दोस्त को एक बड़े से सूटकेस में डालकर लौटा, तो गेट पर मौजूद सिक्योरिटी गार्ड ने उसे रोक लिया.

Source: carousell

इस दौरान पूछने पर बैग में ज़रूरी सामान होने की बात कही, लेकिन तभी सूटकेस अचानक हिलने लगा, तो सिक्योरिटी वालों को शक हुआ. इसके बाद जब सिक्योरिटी गार्ड ने उसे बैग खोलकर दिखाने की बात कही तो ये युवक ना नुकुर करने लगा.

इस बीच सिक्योरिटी वालों ने इसकी जानकारी सोसाइटी एसोसिएशन को दी. जब ये छात्र सोसाइटी एसोसिएशन के सामने भी सूटकेस खोलने में आनाकानी करने लगा तो ज़बरदस्ती उसका सूटकेस खोल दिया गया. सूटकेस के अंदर छुपे क़रीब 18 साल के लड़के को देख हर कोई हैरान रह गया.

Source: carousell

इसके तुरंत बाद सोसाइटी के लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस दोनों छात्रों को थाने ले गई. इसके बाद दोनों छात्रों के माता-पिता को स्टेशन बुलाया गया. हालांकि, इस संबंध में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया.

कोरोनो वायरस के ख़तरे के बीच छात्र की इस हरक़त से न सिर्फ़ सोसाइटी एसोसिएशन बल्कि सोसाइटी में रहने वाले लोग भी हैरान थे.