उत्तर प्रदेश के मेरठ से ठगी की एक अनोखी घटना सामने आई है. इस घटना पर विश्वास करना जितना मुश्किल है हंसी आना उतना ही आसान. 21वीं सदी में एक पढ़े लिखे शख़्स के साथ इस तरह की घटना होना अपने आप में अनोखी बात है. 

Source: twitter

दरअसल, मेरठ में दो शातिर तांत्रिकों ने लंदन रिटर्न एक डॉक्टर को 'अलादीन का चिराग' देने के एवज में 2.5 करोड़ रुपये का चुना लगा दिया. इस दौरान आरोपियों ने डॉक्टर को विश्वास दिलाकर कि ये चिराग उनकी सभी इच्छाओं को पूरा कर सकता है. इसके बदले डॉक्टर साहब से 2.5 करोड़ रुपये लेकर रफ़ूचक्कर हो लिए.

Source: twitter

मामला मेरठ के ब्रहमपुरी इलाक़े का बताया जा रहा है. खैरनगर निवासी डॉ. लईक ख़ान ने दो तांत्रिकों के ख़िलाफ़ पीले रंग का नकली चिराग बेचने के नाम ढाई करोड़ रुपये ठगने का केस दर्ज किया. मामला पूरे 2.5 करोड़ रुपये का था ऐसे में पुलिस ने भी अपने घोड़े दौड़ने शुरू कर दिए. अब पुलिस ने दोनों अपराधियों को गिरफ़्तार कर जेल भेज दिया है.

क्या है पूरा मामला? 

डॉक्टर लईक के मुताबिक़ साल 2018 में शमीना नाम की एक मरीज उनके संपर्क में आई. सर्जरी के बाद डॉक्टर अक्सर पट्टी बदलने के लिए उसके घर जाने लगे. इस दौरान महिला के घर पर ही डॉक्टर साहब की मुलाक़ात इकरामुद्दीन नाम के एक तांत्रिक से हुई. इसके बाद तांत्रिक ने डॉक्टर को अपने झांसे में लेकर उसे अरबपति बनाने के सपने दिखाए और पैसे ऐंठने शुरू कर दिए.

Source: navbharattimes

इसके बाद इकरामुद्दीन ने जब डॉक्टर लईक को पूरी तरह से अपने बस में कर लिया तो उसने अपने दोस्त अनीस के साथ मिलकर ठगी के मकसद से डॉक्टर को 'अलादीन का चिराग' बेचने का वादा किया और डॉक्टर साहब भी उनके झांसे में आकर 2.5 करोड़ का चूना लगवा बैठे.

Source: twitter

डॉक्टर लईक ने बताया कि, आरोपियों ने चिराग से 'जिन्न' निकाल कर दिखाने के एवज में मुझसे पैसे ऐंठने शुरू कर दिए थे. इस दौरान मैंने आरोपियों को किस्तों में 2.5 करोड़ रुपये दिए. मैं जब भी 'चिराग' ले जाने की बात कहता तांत्रिक मुझे डरा देता था. इस बीच मुझे पता चला कि जिन्न कोई और नहीं, बल्कि शमीना का ही पति था.