कोरोना संक्रमण के चलते 16 मार्च से बंद देश के सभी ऐतिहासिक स्मारक 6 जुलाई से खुलने जा रहे हैं. इसका मतलब 6 जुलाई से पर्यटक ताजमहल, लाल क़िला, हुमायूं का क़िला और फ़तेहपुर सीकरी जैसी तमाम ऐतिहासिक इमारतों के दीदार कर सकते हैं.

Source: twitter

केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री प्रह्लाद पटेल ने पर्यटकों के लिए फिर से सभी राष्ट्रीय स्मारकों को खोलने का फ़ैसला लिया है. इस दौरान सभी स्मारकों को कड़े सुरक्षा इंतज़ामों के साथ खोला जाएगा. इस लिस्ट में वो स्मारक और इमारतें शामिल हैं जो पुरातत्व विभाग और संस्कृति मंत्रालय के अंतर्गत आते हैं.

Source: ndtv

केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने ट्वीट कर दी इसकी जानकारी-

संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय ने 6 जुलाई से देश भर के सभी ऐतिहासिक स्मारक खुलने का रास्ता तो साफ़ कर दिया है, लेकिन राज्य सरकारें अपने यहां कोरोना मामलों को देखते हुए इन्हें खोलने या बंद रखने का फ़ैसला ले सकती हैं.

Source: twitter

केवल 'नॉन कंटेंनमेंट ज़ोन' वाले स्मारक ही खुलेंगे

केवल 'नॉन कंटेंनमेंट ज़ोन' वाले स्मारक ही खुलेंगे इस दौरान देश भर के सभी ऐतिहासिक स्मारकों को खोलने को लेकर संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय ने नए दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए हैं. गाइडलाइन में कहा गया है कि केवल वही स्मारक खोले जाएंगे जो कंटेंनमेंट ज़ोन से बाहर होंगे.

Source: twitter

इस दौरान सभी स्मारकों को गृह मंत्रालय द्वारा जारी की गई गाइडलाइन पालन इस तरह से करना होगा-

1- स्मारकों में प्रवेश के लिए ई-एंट्री टिकट जारी होंगे.


2- स्मारक में जाने वाले पर्यटकों की संख्या सीमित रहेगी.

3- स्मारक के अंदर ग्रुप में फ़ोटोग्राफ़ी की अनुमति नहीं होगी.

4- पर्यटकों को स्मारक में अंदर घूमने का एक तय समय दिया जाएगा.

5- टिकट खिड़की से जारी किए जाने वाले पर्ची वाले टिकट जारी नहीं होंगे.

6- स्मारक के हर हिस्सों को समय-समय पर सैनिटाइज़ किया जाना चाहिए.

7- स्मारकों की पार्किंग और कैफ़ेटेरिया में ई-पेमेंट सिस्टम अपनाया जाएगा.

8- स्मारकों के एंट्री गेट पर पर्यटकों के हाथों को सैनिटाइज़ करने का इंतज़ाम होना चाहिए.

9- पर्यटकों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा और चेहरे को मास्क से कवर करके रखना होगा.

10- स्मारकों में होने वाले 'लाइट एंड साउंड' शो और फ़िल्मों का प्रदर्शन अगले आदेश तक के लिए बंद रहेगा.

Source: twitter

बता दें कि कोरोना संकट के चलते संस्कृति और पर्यटन मंत्रालय के आदेश के बाद 'भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण' ने देशभर के 3400 से अधिक स्मारकों को बंद कर दिया था. Unlock-1 के दौरान ASI के अधीन आने वाले 820 धार्मिक स्थलों को खोल दिया गया था.