अपने देश में गेमिंग के प्रति दीवागनी कितनी है ये किसी से छुपा नहीं है. एक तबका जहां PUBG Mobile या Call of Duty: Mobile जैसे बड़े गेम पसंद करता है वहीं एक तबका Ludo, Chess जैसे गेम्स पसंद करता है. मोबाइल गेमिंग किसी एक उम्र तक सीमित नहीं रही.

Source: pixabay

YouGov के पेपर Gaming and Esports: The Next Generation में छापे आंकड़ों की माने तो भारत में ऑनलाइन गेमिंग तेज़ी से बढ़ता बिज़नेस है. लोग गेमिंग को अब प्रोफेशनल तरीक़े से खेलने लगे हैं और एक सफ़ल करियर ऑप्शन मानने लगे हैं. 

Source: pexels

हमारे देश में 4G का आना, डाटा का सस्ता होना, मोबाइल फ़ोन्स के सस्ते होने से मोबाइल गेमिंग के बढ़ते क्रेज़ बढ़ा और उस पर कोविड की वजह से लगे लॉकडाउन और घर पर रहने की मजबूरी ने इस सेक्टर को और मज़बूत कर दिया.

Source: wikimedia

सर्वे में पाया गया कि पूरी दुनिया में गेमिंग के मामले में भारत 8वें नंबर पर है. भारत के शहरी क्षेत्र के 71% लोग मोबाइल या किसी अन्य डिवाइस में गेम खेलते हैं. अपने देश में मोबाइल गेमिंग का बोलबाला है. 67% लोग गेमिंग के लिए स्मार्टफ़ोन या टेबलेट का इस्तेमाल करते हैं और 12% लोग गेमिंग के लिए कंसोल का इस्तेमाल करते हैं. 

Source: yougov

अगर बात आती है कि इस तरह के मोबाइल गेमर्स हैं हमारे देश में तो पता चलता है कि 82% लोग हफ्ते में 10 घंटे या उससे कम गेम खेलते हैं यानी ये नॉर्मल गेम खेलने वाले लोग हैं. ज़्यादा गेम खेलने वाले हमारे देश में 16% हैं, ये लोग हफ्ते में 10 घंटे से ज़्यादा समय गेमिंग को देते हैं.

Source: yougov

पूरे विश्व की बात करें तो पहले नंबर पर थाईलैंड आता है जहां 82% लोग गेमिंग करते हैं उसके बाद फिलीपीन(80%) और ताइवान(77%) का नम्बर आता है. 

डाटा दिखाता है कि YouTube गेमिंग गेमर्स के बीच बहुत प्रसिद्द है. YouTube गेमिंग को लेकर जागरूकता के मामले में भारत पांचवें और Engagement के मामले में तीसरे स्थान पर है. इसके अलावा Twitch या Facebook Gaming के बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं. दोनों को सिर्फ़ 12% लोग ही जानते हैं.

Source: yougov

आप पूरा पेपर यहां क्लिक करके पढ़ सकते हैं.