डिफ़ेंस वेबसाइट मिलिट्री डायरेक्ट ने दुनिया के सबसे ताकतवर देशों की नई रैंकिंग जारी की है. इसके तहत अब दुनिया में सबसे ताकतवर मिलिट्री फ़ोर्स चीन के पास है. इस रैंकिंग में भारत, चीन, अमेरिका, रूस, फ़्रांस और ब्रिटेन जैसे देशों को शामिल किया गया है.  

Source: cfr

भारतीय सेना में होते हैं ये रैंक, तो पढ़ लो और सेना के बारे में ज्ञान बढ़ा लो

मिलिट्री डायरेक्ट के मुताबिक़, चीन ने दुनिया की सबसे मजबूत सेना के मामले में अमेरिका और रूस को पछाड़ दिया है. इस लिस्ट में चीन की सेना टॉप पर है. अमेरिका दूसरे, रूस तीसरे और भारत चौथे नंबर पर है. इस लिस्ट में फ़्रांस को 5वां, जबकि ब्रिटेन 9वें स्थान पर मौजूद है. 

Source: theprint

किस देश को मिले हैं कितने अंक 

मिलिट्री डायरेक्ट ने अपनी रैंकिंग में चीन को सबसे ज्यादा 100 में से 82 अंक, इसके बाद अमेरिका को 74 अंक, रूस को 69 और भारत को 61 अंक दिए हैं. वहीं, फ़्रांस को 58 अंक दिए गए हैं. 

Source: wikipedia

किस आधार पर दी गई है रैंकिंग

मिलिट्री डायरेक्ट ने 'अल्टिमेट मिलिट्री स्ट्रेंथ इंडेक्स' जारी किया है. इस दौरान सभी देशों के लिए बजट, सक्रिय और असक्रिय सेना, जल, थल और वायु सेना के लिए पर्याप्त रिसोर्स, परमाणु हथियार, मिलिट्री उपकरणों की संख्या और सैलरी आदि के आधार पर रैंकिंग तय की गई है. 

ये हैं भारतीय सेना के 10 मोस्ट पावरफ़ुल हथियार, जो किसी भी देश की सेना को कर सकते हैं तहस-नहस 

Source: theprint

डिफ़ेंस वेबसाइट मिलिट्री डायरेक्ट ने अपनी रिपोर्ट में ये भी बताया है कि, अगर कभी युद्ध होता है तो चीन की तीनों सेनाएं सबसे ताकतवर हैं. चीन के पास लंबे वक्त तक युद्ध करने की क्षमता है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं है, कि वो युद्ध जीत जाएगा.  

Source: army

भारतीय सेना के 'T-90 भीष्म' टैंक में ऐसी कौन सी ख़ूबियां हैं, जो इसे दुनिया का बेस्ट टैंक बनाती हैं 

चीन समुद्र से, अमरीका हवा से और रूस ज़मीन से युद्ध जीतने की क्षमता  

अमेरिका (14,141) हवाई पोत के ज़रिए रूस (4,682) और चीन (3,587) के साथ हवाई युद्ध में जीत हासिल कर सकता है. रूस (54,866) युद्ध उपकरणों के सहारे अमेरिका (50,326) और चीन (41,641) के साथ ज़मीनी युद्ध में जीत हासिल कर सकता है. जबकि चीन (406) जल पोतों के साथ रूस (278), अमेरिका (202) और भारत (202) के ख़िलाफ़ समुद्री युद्ध में जीत दर्ज कर सकता है.  

Source: pinterest

रिपोर्ट के मुताबिक़, अमेरिका प्रति वर्ष अपने सैन्य बजट पर सबसे अधिक पैसा ख़र्च करता है. साल 2019 में अमेरिका का सैन्य बजट 732 बिलियन अमरीकी डॉलर था, चीन 261 बिलियन अमरीकी डॉलर के साथ दूसरे स्थान पर है, इसके बाद भारत में 71 बिलियन अमरीकी डॉलर के साथ तीसरे नंबर पर है.