Global Hunger Index की 117 देशों की लिस्ट में भारत को 102वीं रैंक दी गई है.


India Today की रिपोर्ट के अनुसार, 2014 में 77 देशों की लिस्ट में भारत को 55वां स्थान मिला था. भारत, BRICS देशों और साउथ एशियन देशों से भी काफ़ी पीछे है.

Source: Outlook

Times of India की रिपोर्ट के अनुसार, 2015 में भारत को 93 रैंक मिली थी. इस साल पाकिस्तान की रैंकिंग भी भारत से ज़्यादा है. पाकिस्तान को इस साल 94 रैंक मिली है.


नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, 2014 से 2018 के बीच लिए गए आंकड़ों से Global Hunger Index की रैंकिंग तैयार की गई है. भारत की हालत अफ़्रीका के उप-सहारा क्षेत्र से भी बद्तर हो गई है. रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि भारत में 6 से 23 महीने के सिर्फ़ 9.6% बच्चों को ही Minimum Acceptable Diet मिलता है.

Source: YouTube

Times of India की रिपोर्ट के मुताबिक़, Global Hunger Index की रिपोर्ट में बांग्लादेश के विकास की तारीफ़ की गई है.


सबसे ज़्यादा सुधार नेपाल की हालत में हुआ है. रिपोर्ट के अनुसार, 2000 से अब तक नेपाल की मातृ शिक्षा, स्वच्छता आदि में ज़बरदस्त बदलाव आया है.

Global Hunger Index, 100- Point Scale पर देशों को रैंक देता है, जिसमें 0 बेस्ट स्कोर और 100 वर्स्ट है. इस स्केल पर भारत के मार्क्स 30.3 थे जो काफ़ी चिंताजनक है.