भारत ने देश में ही विकसित, सतह से सतह पर मार करने वाली मिसाइल पृथ्वी-2 का सफ़ल रात्रिकालीन परीक्षण कर लिया है. ओडिशा के बालासोर में इसका परीक्षण किया गया. इसे Defence Research And Development Organisation (DRDO) ने बनाया है. ये मिसाइल परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है. 

prithvi 2
Source: gnsnews

DRDO के अधिकारियों के अनुसार इसे अंधेरे में फ़ायर किया गया और इसने अपने सभी निशानों पर सटीक वार किया है. इसे एक मोबाइल लॉन्चर से दागा गया. भारतीय सेना के लिए बनाई गई इस मिसाइल की रेंज 350 किलोमीटर है.

prithvi 2
Source: thedefensepost

DRDO के अधिकारी ने इस बारे में बात करते हुए कहा- ‘मिसाइल के प्रक्षेपण पथ पर रडारों, Electro-Optical Tracking Systems और Telemetry Stations से नज़र रखी गई थी. ये निर्धारित सभी पैमानों पर खरी उतरी है.’

prithvi 2
Source: sputniknews

पृथ्वी मिसाइल को Integrated Guided Missile Development Programme (IGMDP) के तहत बनाया गया था. 2003 में इसे भारतीय सेना में शामिल किया गया था. अब पृथ्वी-2 भी भारतीय सेना की शान बढ़ाएगी.