आज देश की क़रीब-क़रीब हर संस्थान पर सवाल खड़े किए जाते हैं. ऐसे वक़्त में भी भारतीय सेनाएं अपनी साख बनाए रखने में क़ामयाब रही हैं. इसके पीछे वजह उनका हर मोर्चे पर आगे रहना है. बात चाहें सीमाओं की सुरक्षा की हो या आपदाओं में लोगों की जान बचाने की, हमारे देश की सेनाएं हमेशा आगे रही हैं. अब इस कड़ी में शिक्षा का क्षेत्र भी जुड़ गया है.  

Source: indiatoday

दरअसल, भारतीय सेना ने कश्मीरी युवाओं का भविष्य सुधारने के लिए श्रीनगर में ‘सुपर-30’ नाम का एक प्रोग्राम शुरू किया है. इसके तहत सेना, घाटी के वंचित तबके के होनहार बच्चों को मेडिकल एंट्रेंस परीक्षा (नीट) के लिए तैयारी करवा रही है. ये कार्यक्रम सभी छात्रों को अच्छे मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश लेने का उचित मौक़ा देने के लिए शुरू किया गया है.  

रिपोर्ट के मुताबिक, देश भर के मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश पाने के इच्छुक छात्रों को शिक्षा प्रदान करने के प्रयास में नेशनल इंटीग्रिटी एंड एजुकेशनल डेवलपमेंट आर्गनाईजेशन (NIEDO) ने ‘सुपर-30’कार्यक्रम के लिए भारतीय सेना के साथ सहयोग किया है. बताया गया कि NEET 2021 के लिए तैयारी करने वाले छात्रों के लॉजिस्टक पार्ट पर भारतीय सेना काम करेगी. वहीं, NIEDO अपनी फ़ैकेल्टीस टीचिंग पार्ट देखेगा. भारतीय सेना चिनार और श्रीनगर में क्लास शुरू भी कर चुकी है.  

12 महीने तक मिलेंगी मुफ़्त क्लासेज़  

भारतीय सेना द्वारा शुरू किए गए कार्यक्रम के तहत वंचित तबके के छात्रों को 12 महीने तक शैक्षिक मार्गदर्शन और मुफ्त कोचिंग प्रदान की जाएगी, ताकि देशभर के मेडिकल कॉलेजों में इन छात्रों का दाखिला हो सके.  

Source: lokmatnews

जो छात्र NEET परीक्षा के लिए सुपर-30 कार्यक्रम का हिस्सा बनना चाहते हैं, उनके लिए भारतीय सेना, अपने प्रशिक्षण साझेदार सेंटर फ़ॉर सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी एंड लीडरशिप (CSRL) के साथ मिलकर एक राज्य व्यापी प्रवेश परीक्षा आयोजित करती है. परीक्षा में सफ़ल होने वाले छात्रों को रहने और खाने-पीने की सारी सुविधा भी मुफ़्त में दी जाएगी.  

हालांकि NEET 2021 एग्ज़ाम की अभी तारीखों का एलान नहीं हुआ है. संभव है कि इस साल जून-जुलाई में एंट्रेस परीक्षा आयोजित होगी.