नज्मी नगीनवी का एक शेर है-

बेताबियां समेट के सारे जहान की
जब कुछ न बन सका तो मेरा दिल बना दिया

कुछ ऐसा ही किया तेलंगाना के एक शख़्स ने, जो दुबई में रहकर Cleaner का काम करते हैं. इस शख़्स का नाम रमेश रंगराजन गांधी है. हुआ यूं कि शाम की शिफ़्ट में काम करते हुए रमेश ने सड़क पर गिरी हुई पत्तियों से दिल बना रहे थे, उन्हें ऐसा करते वहीं रहने वाली नेसमा फरहत ने देख लिया और फ़ोटो खींच Instagram पर डाल दिया.

जब इसी फ़ोटो को thehappyboxofficial ने Instagram पर अपलोड किया तो ये देखते ही वायरल हो गयी. तस्वीर ने पूरे इंटरनेट का दिल जीत लिया.

Gulf News को दिए interview में रमेश ने कहा, "जब मैंने दिल बनाया तब मैं अपनी पत्नी के बारे में सोच रहा था. मैं उसको बहुत याद करता हूं , लेकिन मुझे पता है कि वो जानती है मैं उसे प्यार करता हूं और हमेशा उसके बारे में सोचता हूं."

बताते चलें कि रमेश की शादी सितम्बर 2019 में हुई थी और शादी के एक महीने बाद ही रमेश को काम के चलते दुबई आना पड़ा था और लता को भारत में ही रुकीं.

रमेश ने बताया कि वे अपने बीमार पिता को देखने जाने वाले थे मगर कोरोना महामारी के चलते ऐसा सम्भव नहीं हो पाया.

Source: instagram/thehappyboxofficia

Media से बात करने पर रमेश ने बोला कि वे अगस्त में छुट्टी ले कर घर आने का सोच रहे हैं ताकि अपने बीमार पिता की देखभाल कर सकें और अपनी पत्नी के साथ भी वक़्त बिता सकें.

तस्वीर पर अब तक 5,000 से ज़्यादा Likes और ख़ूब सारे प्यारे Comments आये.

एक यूज़र ने लिखा, "यह तस्वीर वादों और उम्मीदों से भरी है." तो वहीं एक और यूज़र लिखते हैं, "हर कोई इतना भाग्यशाली नहीं होता कि वह अपने परिवार के साथ हो. हमें अपने परिवार और प्रियजनों के साथ के हर वक़्त को ख़ुल के जीना चाहिए. इस आदमी को सबसे ज़्यादा खुशियां मिलेंगीं."