कोरोना वायरस के चलते लोग कहीं आने-जाने से कतरा रहे हैं. यात्रियों की कमी के चलते ही इंडियन रेलवे ने 31 मार्च तक क़रीब 240 ट्रेनों को रद्द करने का फ़ैसला किया है. इसके साथ ही उन्होंने पैसेजंर्स को राहत देते हुए रेल टिकट कैंसिल कराने पर 100 फ़ीसदी रिफ़ंड देने की घोषणा की है.

इंडियन रेलवे ने ट्वीट कर अपने यात्रियों से अपील की है कि कोरोना वायरस आपदा को देखते हुए अत्यंत आवश्यक न होने पर रेलवे स्टेशन पर आने से बचें. इसके साथ ही उन्होंने नए रिफ़ंड रूल्स के बारे में भी बताया. नए नियम 21 मार्च से लेकर 15 अप्रैल 2020 तक लागू होंगे.

Railways
Source: indiatvnews

इनके मुताबिक अगर इस बीच कोई यात्री अपनी टिकट कैंसिल करता है तो उसे पूरे पैसे वापस किए जाएंगे. इस बीच कैंसिल ट्रेन्स की जगह किसी यात्री को दूसरी ऑपरेशनल ट्रेन में सीट मिली है और वो उससे यात्रा नहीं करना चाहता तो उसे भी टिकट के पूरे पैसे रिफ़ंड किए जाएंगे. ये रूल्स केवल कांउटर से ख़रीदी गई टिकट्स पर लागू होंगे. e-Ticket कैंसिलेशन और रिफ़ंड के किसी भी नियम में बदलाव नहीं किया गया है.

इसके साथ रेलवे ने ये भी बताया कि जनता कर्फ़्यू को ध्यान में रखते हुए शनिवार रात 12 बजे से लेकर रविवार रात 10 बजे तक पूरे देश में किसी भी स्टेशन से कोई पैसेंजर ट्रेन नहीं चलाई जाएगी. मेल और एक्सप्रेस ट्रेन्स भी सुबह 4 बजे के बाद नहीं चलाई जाएंगी. 22 मार्च को चलने वाली सभी इंटर सिटी ट्रेन्स भी इस दौरान रद्द रहेंगी.

Indian Railways
Source: tribuneindia

रेलवे ने कैटरिंग से जुड़े कर्मचारियों के लिए भी जो निर्देश जारी किए हैं. इसमें कहा गया है कि अगर किसी कर्मचारी को बुखार, सर्दी-खांसी या सांस लेने में दिक्कत है तो वो भारतीय रेलवे में खाना ना बनाए या परोसे.


News से जुड़े दूसरे आर्टिकल पढ़ें ScoopWhoop हिंदी पर.