नशे की लत इंसान को कहीं का नहीं छोड़ती. इंसान धन-दौलत, परिवार सबकुछ गंवा देता है और उसे पता भी नहीं चलता. हमें हमारे आसपास ही ऐसे कई उदहारण मिल जायेंगे, जो नशे की लत में अपना सब कुछ गंवा बैठे हैं.

नशे की लत में अपना सब कुछ गंवाने वाले एक बुज़ुर्ग की ऐसी ही एक कहानी इंदौर से भी सामने आई है जिसे पढ़कर बुज़ुर्ग के लिए सिर्फ़ दया ही आ सकती है. 

Source: Dainik Bhaskar

 दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के अनुसार, इंदौर के रमेश यादव नामक शख़्स पिछले 2 साल से एक मंदिर के बाहर भीख मांगकर अपना गुज़ारा कर रहा था. 

दैनिक भास्कर से बात-चीत में 'परम पूज्य रक्षक आदिनाथ वेलफ़ेयर ऐंड एजुकेशनल सोसायटी' की हेड रूपाली जैन ने बताया कि यादव को कालका माता मंदिर के पास से लाया गया. इस दौरान जब वालंटियर बुज़ुर्ग के घर पहुंचे तो उसके घर का इंटीरियर देखकर दंग रह गए.

Source: Bobhata

दरअसल, वेलफ़ेयर सोसायटी के वालंटियर जिस बुज़ुर्ग शख़्स को बिखरी समझ उसकी मदद के लिए आगे आए थे वो वालंटियर के घर का इंटीरियर देख हैरान रह गए. इसमें ख़र्च किए रुपयों का अनुमान 4 लाख लगाया गया है. उनके घर में सारी सुख-सुविधाएं मौजूद थीं. लेकिन शराब की लत ने यादव को घर से बाहर सड़क पर ला दिया था.

यादव के नाम पर बंग्ला, प्लॉट है और करोड़ों की संपत्ति है. सीधी आय न होने की वजह से मंदिर के बाहर भीख मांगता और उन पैसों से शराब पीता.