इंदौर को देश के सबसे साफ़-सुथरे शहर का ख़िताब मिला है. शहर को साफ़ रखने का श्रेय यहां के लोगों और आईएमसी (इंदौर म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन) को जाता है. न सिर्फ़ आईएमसी देश में साफ़-सफ़ाई के नये मक़ाम स्थापित कर रही है. आईएमसी ने इंदौर के हर मोहल्ले की सफ़ाई का बीड़ा भी उठा लिया है.  

Free Press Journal की रिपोर्ट के अनुसार, महावीर नगर स्थित, सिद्धार्थ अपार्टमेंट के पीछे की गली, कूड़ा फेंकने का इलाका बन चुकी थी. आईएमसी की कोशिशों से अब ये गली खेलने-कूदने की जगह बन गई है. सिद्धार्थ अपार्टमेंट और उमंग पैराडाइस अपार्टमेंट के बाशिंदे इस जगह को छोटे समारोह के लिए भी इस्तेमाल करने लगे हैं. 

गली की दीवारों को कई रंगों से सजाया गया है और आईएमसी ने कई फूलों के पौधे रखे हैं. म्यूनिसिपल कमीश्नर प्रतिभा पाल भी बीते शनिवार यहां पहुंची और स्थानीय लोगों के साथ बैडमिंटन खेला, चाय पी. कमीश्नर पाल ने बच्चों के साथ वृक्षारोपण भी किया.  

Source: The Indian Express

ये बदलाव सिर्फ़ इंदौर के एक अपार्टमेंट के पीछे ही नहीं आया. इंदौर की कई गलियों को यूं ट्रांसफ़ॉर्म किया गया है.