इंदौर ही नहीं देशभर के लिए भी गर्व करने की ख़बर सामने आई है. एक रिपोर्ट के अनुसार, इंदौर के वैज्ञानिक डॉ. अविनाश खरे का नाम 'स्टैनफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी' के टॉप वैज्ञानिकों की सूची में आया है.

दरअसल, 'स्टैनफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी' ने दुनिया के सर्वोच्च वैज्ञानिकों की लिस्ट जारी की है. इस लिस्ट में डॉ. खरे का भी नाम है. खरे को 'Mathematical Physics Division' में 53वां स्थान दिया गया. इस कैटगरी में शामिल किए जाने वाले वो इकलौते वैज्ञानिक हैं. वो टॉप 1% जनरल लिस्ट में भी हैं. 

Source: Free Press Journal

डॉ. अविनाश खरे का जन्म इंदौर में हुआ था और उन्होंने 'होल्कर साइंस कॉलेज' से पढ़ाई की है. Free Press Journal से बात-चीत में डॉ. खरे ने बताया- 

मैंने इंदौर यूनिवर्सिटी से Physics में Masters किया और मुझे गोल्ड मेडल भी मिला था. 

                    - डॉ. अविनाश खरे

डॉ. खरे ने 'Saha Institute of Nuclear Physics' कोलकाता से Ph.D की और जापान के 'टोक्यो यूनिवर्सिटी' से Post-Doctoral Research किया. भारत लौटकर उन्होंने भुवनेश्वर स्थित 'The Institute of Physics' जॉइन किया और वहां 1975 से 2010 तक शोध किया. 

अभी में सावित्रीबाई फुले यूनिवर्सिटी, पुणे के Physics विभाग में बतौर Professor Emeritus काम कर रहा हूं, लेकिन मुझे प्रेरणा मेरे होमटाउन इंदौर से ही मिलती है. 

                    - डॉ. अविनाश खरे

Source: Itl

डॉ. खरे ने अपना पहला पेपर 1971 में पब्लिश किया था. उन्होंने अब तक 271 पेपर पब्लिश किए हैं जो कई अंतर्राष्ट्रीय जर्नल्स में छपे हैं. डॉ. खरे ने दो किताबें लिखी हैं जो ग्रैजुएशन और पोस्ट-ग्रैजुएशन के छात्र रेफ़्रेंस के लिए इस्तेमाल करते हैं.   

74 साल की उम्र में भी डॉ. खरे जोश-ओ-ख़रोश से भरे हैं और उनका मानना है कि उनके रिसर्च से अभी कई गुत्थियों का सुलझना बाक़ी है.