लखनऊ में प्राइमरी स्कूल के शिक्षक-शिक्षिकाओं के गूगल मीट पर ‘ऑनलाइन निष्ठा प्रशिक्षण कार्यक्रम’ के दौरान कुछ ऐसा हुआ, जिसने टीचरों की निष्ठा पर ही सवाल खड़ा कर दिया.

Source: dailytimes

दरअसल, लखनऊ के 'पिपरसेंड प्राथमिक विद्यालय' में तैनात अनुदेशक जितेंद्र यादव ऑनलाइन कार्यक्रम के दौरान अश्लील वीडियो चला बैठे. अचानक चली इस सेक्स एजुकेशन को देखकर कार्यक्रम में मौजूद सभी निष्ठावान शिक्षक-शिक्षिकाएं हैरान रह गए.

मामला यहीं ख़त्म नहीं हुआ, क्योंकि प्रशिक्षण दे रहे अधिकारी कई बार जितेन्द्र को वीडियो बंद करने को कहते रहे, लेकिन गुरु जी पता नहीं कौन मूड में थे कि वो माने ही नहीं और वीडियो चलता रहा. ऐसे में सभी शिक्षिकाएं मीटिंग छोड़ कर चली गईं.

Source: lokmat

बता दें, बीएसए कार्यालय द्वारा आयोजित ऑनलाइन मीटिंग में एनपीआरसी आमावा, मौदा और पिपरसेंड समेत कई अन्य प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षक-शिक्षिका व प्रधानाध्यापक शामिल थे.

बीएसए ने द‍िए सेवा समाप्‍त करने के न‍िर्देश

इस मामले में लखनऊ के बेसिक शिक्षा अधिकारी दिनेश कुमार ने जितेंद्र यादव को नोटिस जारी कर उनका स्पष्टीकरण मांगा है. उन्होंने बताया कि 'ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम' के दौरान अश्लील वीडियो चलाने वाला आरोपित जितेन्द्र यादव 'पिपरसंड प्राथमिक विद्यालय' में अनुदेशक पद पर तैनात है. जितेंद्र को नोटिस जारी कर दी गई है. जल्द ही उसकी सेवा समाप्त की जाएगी.'