देश में ऐसे कई पिज़्ज़ा आउटलेट्स हैं जो 30 मिनट में पिज़्ज़ा न डिलीवर कर पाने पर फ़्री पिज़्ज़ा का दावा करते हैं. बेंगलुरु के आईपीएस अफ़सर, भास्कर राव ने इस सूरत को बदलने की एक पहल की है.

बेआईपीएस भास्कर राव ने ट्वीट करके कहा,

'क्या हम में इतनी हिम्मत है कि हम उस बच्चे से फ़्री पिज़्ज़ा लें जो अपनी जान पर खेलकर पिज़्ज़ा लाता है पर 30 मिनट का लिमिट क्रॉस कर जाता है. मुझे लगता है कि पिज़्जा कंपनियों को 40 मिनट का समय कर देना चाहिए क्योंकि ट्रैफ़िक रूल्स तोड़कर लो बच्चा अपनी ज़िन्दगी दांव पर लगाता है?'

आईपीएस राव के ट्वीट पर लोगों की प्रतिक्रिया-

आप इस मामले पर क्या सोचते हैं?