ऐसा लगता है साल 2020 को कुछ ज़्यादा ही फ़ुर्सत से लिखा गया. भूकंप, चक्रवात, टिड्डी दल का हमला, कोरोना महामारी, सब ने मिलकर हमारी नाक में दम कर रखा है. नहीं, नहीं, जीना हराम कर रखा है अगर सही शब्दों में कहें तो. मगर हम हैं कि अपनी मन की किए जा रहें हैं.

अब इसी कड़ी में अपना नाम जुड़वाने के लिए लाइन में आगे हैं इटलीवासी. इतने बुरे दौर में सालों से डूबे किसी गांव को वापस निकालने के आईडिया को क्या कोई अच्छा आईडिया कह सकता है (याद रहें आप ये आर्टिकल 2020 में पढ़ रहें हैं).

Source: CNN

तो असली मुद्दा ये है कि 12वीं सदी का एक इतालवी गांव जो पिछले 25 सालों से जलमग्न था, वो अब जल्द ही सूरज की रौशनी देख सकता है.

Source: izismile.com

टस्कनी के लुक्का प्रांत में Fabbriche di Careggine 1946 में बांध और Vagli झील बनाने के दौरान जलमग्न हो गया था. हालांकि, ये गांव अब तक कई बार सूरज की रौशनी देख चुका है मगर ये आख़िरी बार 1994 में दिखा था जब पूरे बांध को ख़ाली किया गया था.

Source: izismile.com

34 मिलियन क्यूबिक मीटर पानी के नीचे डूबा हुआ ये गांव अभी भी यथावत् अवस्था में हैं. इस गांव में पत्थर के घर, एक पुल, एक कब्रिस्तान और San Teodoro चर्च आदि अब तक खड़े हैं. CNN के मुताबिक़, ये गांव अब तक सिर्फ़ चार बार पानी के बाहर आया है- 1958, 1974, 1983 और 1994 में. दूसरे शब्दों में सिर्फ़ चार बार इस पूरे इलाक़े से पानी को बाहर निकाला गया है.


हालांकि, 27 सालों बाद फिर से इस झील को खाली किया जा सकता है जिससे ये गांव बाहर आ जाएगा.  

Source: izismile.com

स्थानीय नगरपालिका के पूर्व मेयर Ilio Domenico Giorgi की बेटी Lorenza Giorgi ने झील के बारे में बात की और कहा:

पिछली बार जब इसे 1994 में खाली किया गया था तब मेरे पिता मेयर थे और उनके प्रयासों की बदौलत ही Vagli क़स्बा बसाया जा सका और लगभग 10 लाख लोगों का स्वागत किया जा सका.

यह निश्चित रूप से पर्यटन के लिए अच्छा है, लेकिन कभी घूमने-फिरने जाना भी अच्छा हुआ करता था. अब साल ठहरा 2020. कमबख़्त शैतान पहले से ही ओवरटाइम काम कर रहा है. 


ऐसे में उड़ता हुआ तीर क्यों लेना? आख़िर क्यों?