जयपुर के 'निर्भया स्क्वॉड' में मंगलवार को 20 बाइक सवार महिला पुलिसकर्मी शामिल हुईं.

इन सभी महिला पुलिसकर्मीयों को मुख्यमंत्री अशोक गेहलोत ने अपने आवास से हरी झंडी दिखा कर रवाना किया था.

Nirbhaya squad
Source: twitter

इससे पहले ये महिला पुलिसकर्मी स्कूल, कॉलेज, मॉल्स, सार्वजनिक पार्क, बस स्टॉप जैसे चिन्हित स्थानों पर महिलाओं एवं बालिकाओं विशेषकर छात्राओं से छेड़छाड़ की घटनाओं को रोकने और उन्हें सुरक्षा प्रदान करने का कार्य स्कूटर पर करती थीं.

इस निर्भया स्क्वॉड का निर्माण 2017 में हुआ था.

इस स्क्वॉड में शामिल नीली वर्दी पहने महिला पुलिसकर्मी मार्शल आर्ट्स में स्पेशल ट्रेंड हैं.

होंडा टू व्हीलर्स की ओर से सीएसआर के तहत ऐसी करीब 50 मोटरसाइकिलें जयपुर पुलिस को उपलब्ध करवाई गई हैं.

इनकी मोटरसाइकिलों पर सायरन तथा आगे-पीछे नीली एवं लाल बीकन लगाई गई हैं. इसके अलावा इन्हें वायरलेस सेट एवं फर्स्ट एड बॉक्स दिए गए हैं.

इस स्क्वॉड का निरंतर सम्पर्क अभय कमांड से बना रहता है. जयपुर पुलिस के कंट्रोल रूम से भी ये जुड़े रहते हैं जो इन्हें लगातार शहर की हर हलचल की जानकारी देते रहते हैं.

jaipur police
Source: news18

जयपुर के पुलिस कमिश्नर ने TOI से की बात-चीत में बताया कि, 'हर बाइक पर दो महिला पुलिसकर्मी होंगी. हमने सभी पुलिसकर्मियों को अच्छे से बदमाशों को पकड़ने से लेकर हथियार चलाने तक अच्छे से प्रशिक्षित किया है. हम जयपुर के कुछ संवेदनशील इलाकों में निर्भया स्क्वॉड को निरंतर तैनात रखेंगे. हम जयपुर की सभी महिलाओं और लड़कियों को इस बात का भरोसा दिलाना चाहते हैं कि उनकी सुरक्षा के लिए हम हमेशा सतर्क और तैयार हैं.'

इन सब के अलावा नीली वर्दी पहनी ये निर्भया स्क्वॉड केवल स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी ही नहीं टूरिस्ट जगहों पर भी गश्त लगाती हैं.