बीते शनिवार को जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में चेकिंग के दौरान सुरक्षाबलों ने एक गाड़ी से हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकियों को धर दबोचा है. इस दौरान हैरानी की बात ये रही कि जिस वक़्त इन आतंकियों को पकड़ा गया उस वक़्त उनके साथ गाड़ी में जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी देवेंद्र सिंह भी मौजूद थे.

Source: doonhorizon

सुरक्षाबलों द्वारा पकड़े गए आतंकियों के नाम सैयद नवीद मुश्ताक़ और आसिफ़ राथर है. सुरक्षाबलों ने आतंकियों के साथ ही डीएसपी देवेंद्र सिंह को भी गिरफ़्तार कर लिया, फिलहाल उनसे पूछताज की जा रही है.

Source: indiatoday

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी देवेंद्र सिंह ने आतंकियों को पहले चंडीगढ़ और फिर दिल्ली पहुंचाने के लिए कथित तौर पर लाखों रुपये की डील की थी. इस दौरान संसद हमले के दोषी आतंकी अफ़जल गुरु से डीएसपी के कथित कनेक्शन की भी बात सामने आ रही है. आतंकी अफजल गुरु ने भी कथित तौर पर देवेंद्र सिंह का नाम लिया था. पुलिस देवेंद्र सिंह के अफ़जल गुरु के साथ कनेक्शन होने की भी जांच भी कर रही है.

Source: indiandefencenews

कश्मीर में 'एंटी टेरर ऑपरेशन' के लिए मिल चुका है राष्ट्रपति मेडल

कश्मीर में 'एंटी-हाईजैकिंग स्क्वॉड' के डीएसपी देवेंद्र सिंह को आतंकवाद के ख़िलाफ़ ऑपरेशन में अहम भूमिका निभाने के लिए 'राष्ट्रपति मेडल' से भी नवाजा जा चुका है. सिर्फ़ इतना ही नहीं देवेंद्र सिंह 'एंटी टेरर ग्रुप' टीम के अहम सदस्य भी रह चुके हैं.

Source: aajtak

जम्मू कश्मीर पुलिस के आईजी विजय कुमार ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर कहा कि, देवेंद्र सिंह को आतंकियों के साथ गिरफ़्तार किया गया है. जिन परिस्थितियों में उन्हें गिरफ़्तार किया गया है, वो एक जघन्य अपराध है. वो आतंकियों को गाड़ी में बिठाकर कहीं ले जा रहे थे, इसलिए उनके साथ आतंकी जैसा ही सुलूक किया गया है.

देवेंद्र सिंह के आवास से पुलिस ने 3 AK-47 राइफ़ल के साथ 5 हैंड ग्रेनेड भी बरामद किए हैं. देवेंद्र सिंह पिछले कुछ दिनों से अवकाश पर चल रहा थे. उनके साथ पकड़े गए आतंकियों के नाम सैयद नवीद मुश्ताक़ और आसिफ़ राथर है.

Source: theindianawaaz

बताया जा रहा है कि डीएसपी देवेंद्र सिंह श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनात थे. इस दौरान उन्होंने जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गए विदेशी राजनयिकों को भी रिसीव किया था.