चीन और भारत के बीच हुई मुठभेड़ से एक बेहद अजीब घटना सामने आई है.

Deccan Herald की एक रिपोर्ट के अनुसार, बिहार के सारन ज़िले के सुनील राय के घर पर दुख का पहाड़ टूट पड़ा, जब उन्हें मालूम चला कि उनका बेटा शहीद हो गया है.

Source: Hindustan Times

इस घटना के एक दिन बाद, बुधवार को सुनील राय ने अपनी पत्नी मेनका राय को फ़ोन करके कहा, 'अभी ज़िन्दा हूं.'

परिवार के लोगों ने चैन की सांस ली जब उन्हें पता चला कि उनका बेटा अभी भी बॉर्डर पर तैनात है और दुश्मनों से देश की रक्षा कर रहा है.

Source: Free Press Journal

असल में ये पूरा कनफ़्यूज़न मिलते-जुलते नाम की वजह से हुआ, दोनों जवानों के पिता का नाम भी एक ही था.

जिस सुनील की लद्दाख में पोस्टिंग थी वो चीनी सैनिकों से युद्ध में शहीद हो गये. बीते मंगलवार को सेना के अधिकारियों ने सुनील की पत्नी मेनका को ये जानकारी दी. सारन ज़िले के अधिकारियों ने भी जानकारी की पुष्टि की पर ये भी कहा कि वो 'सेना से और जानकारी मिलने का इंतज़ार करेंगे.'

ग़ौरतलब है कि बीते बुधवार को सुनील ने ख़ुद फ़ोन करके अपने ठीक होने की बात बताई. ये वाले सुनील लद्दाख नहीं, लेह में तैनात हैं.
बीते सोमवार रात को लद्दाख के गलवान घाटी में चीनी सैनिकों से मुठभेड़ में सेना के 20 जवान शहीद हो गये थे