हैदराबाद के राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक अज्ञात व्यक्ति की ओर ई-मेल आता है कि एयरपोर्ट पर बॉम्ब से अटैक होने का ख़तरा है. इस ई-मेल को कस्टमर सपोर्ट की टीम ने रिसीव किया और इसे '[email protected]' से भेजा गया था.

एयरपोर्ट की जांच शुरू हो गई. चप्पे-चप्पे को खंगाल दिया गया. जब कुछ हाथ नहीं लगा तो प्राप्त मेल को अफ़वाह करार दिया गया. मामला साइबर क्राइम यूनिट के पास गया और जांच में जो कहानी सामने आई वो चौंकाने वाली है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, उस ई-मेल को Shahshikanth नाम के एक शख़्स ने भेजा था क्योंकि उसका दोस्त Sairam Kaleru कनाडा जा रहा था और Shahshikanth को Sairam से जलन थी इसलिए वो उसे जाने नहीं देना चाहता था.

Shahshikanth ने कथित तौर पर कनाडा इमिग्रेशन को भी ई-मेल भेज अपने दोस्त का वीज़ा रद्द करने की कोशिश करवाई.

तमाम कोशिशों के बावजूद वह अपने मनसूबों में कामयाब न हो सका. उल्टे भारतीय दंड संहिता के कई धाराओं में केस अपने ऊपर ले बैठा.