केरल को देश का सबसे सुशासित और उत्तर प्रदेश को सबसे कुशासित राज्य बताया गया है. बीते शुक्रवार को बेंगलुरू की एक ग़ैर सरकारी संगठन ने, पब्लिक अफ़ेयर्स सेन्टर ने पब्लिक अफ़ेयर्स इंडेक्स 2020 जारी किया जिसमें राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को रैंकिंग दी गई.

Source: Times of India

राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों को सतत विकास के तीन मापदंडों पर रैंकिंग दी गई थी- समानता, विकास और निरंतरता. तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश को दूसरा और तीसरा स्थान दिया गया. वहीं उत्तर प्रदेश को इस सूची में सबसे नीचे रखा गया है. बिहार, ओडिशा और उत्तर प्रदेश को नीचे के तीन स्थान दिए गए.

गोव को छोटे राज्यों की कैटगरी में सबसे सुशासित राज्य और चंडीगढ़ को सबसे सुशासित केन्द्र शासित प्रदेश बताया गया. 

एक रिपोर्ट के अनुसार, केरल ने पिछले साल भी पहला रैंक हासिल किया था. 18 बड़े राज्यों में 9 राज्यों को नेगेटिव मार्क्स मिले, उत्तर प्रदेश को -1.462 मार्क्स दिए गए. केरल को 1.388 पॉइंट, तमिलनाडु को 0.912 पॉइंट और आंध्र प्रदेश को 0.531 पॉइंट दिए गए. 

केन्द्र शासित प्रदेशों में सबसे कम पॉइंट जम्मू कश्मीर (-0.50) और निकोबार (-0.30) को मिले.