वर्तमान में तकनीक ने कितनी तरक्की कर ली है, ये बताना तो फ़िज़ूल होगा. मगर ये तकनीक का ही कमाल है कि घर बैठे हम अपनी पसंद का खाना आर्डर कर लेते हैं. और ऑनलाइन खाना डिलीवर करने के इसी बाज़ार में पैसा कमाने के लिए केरल का जेल प्रशासन भी आगे आ गया है.

tech-wonders

Economic Times की एक ख़बर के अनुसार, केरल के वियूर केंद्रीय कारागार के अधिकारियों ने बीते बृहस्पतिवार को कैदियों द्वारा बनाई गई टेस्टी बिरयानी को ऑनलाइन बेचने की शुरुआत की. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जेल अधिकारियों ने ऑनलाइन फूड डिलीवर करने वाली कंपनी Swiggy के साथ कॉन्ट्रैक्ट किया है, ताकि वो जेल परिसर से बिरयानी डिलीवर करा सकें.

wikipedia

इस पहल के शुरूआती चरण में 127 रुपये कीमत का बिरयानी कॉम्बो बेचने जा प्लान बनाया गया है. इस कॉम्बो में 300 ग्राम बिरयानी, एक भुना हुआ चिकन लेग पीस, तीन रोटियां, एक कप केक, सलाद, आचार और एक लीटर पानी की बोतल दी जाएगी. इसके अलावा इस कॉम्बो बॉक्स केले का पत्ता भी होगा.

गौर करने वाली बात ये है कि 2011 से इस उद्योग में शामिल कंपनी फ़्रीडम फ़ूड फ़ैक्ट्री केरल की जेलों में कैदियों द्वारा तैयार भोजन बेचने का काम कर रही है. 

Economic Times के मुताबिक़, वियूर केंद्रीय कारागार के अधीक्षक निर्मलानंदन नायर ने कहा,

‘हम पहली बार ऑनलाइन खाना बेचने जा रहे हैं. साल 2011 में हमने रोटियां बनाना और बेचना शुरू किया था. जेल के डीजीपी ऋषिराज सिंह ने ऑनलाइन खाना बेचने का सुझाव दिया था.’ 

-निर्मलानंदन नायर

The Hindu

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि यहां हर दिन 25,000 से अधिक चपातियां और 500 बिरयानी बेची जाती हैं, जो यहां के 100 कैदियों द्वारा बनाई जाती हैं.