खालसा Aid एक अंतर्राष्ट्रीय गैर-सरकारी संगठन(NGO) है जिसका उद्देश्य दुनिया भर के आपदा वाली जगहों में मानवीय सहायता प्रदान करना है. संगठन सिख सिद्धांत 'पूरी मानव जाति को एक के रूप में मानना' पर आधारित है. 

Source: sikhpa

इस NGO के फ़ाउंडर रविंदर सिंह हैं, जो हाल ही में कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं. रविंदर सिंह ने ट्विटर पर लिखा, 'प्रियजनों, मुझे पिछले बुधवार से बहुत तेज़ तापमान के साथ बुख़ार है. मैंने इतना टूटा कभी नहीं महसूस किया. मेरा कोविड टेस्ट पॉज़िटिव आया है. मैंने दवाइयां ली हैं और ज़्यादातर समय सोता रहा हूं. परिवार के कुछ सदस्य भी पॉज़िटिव आये हैं. भयानक महसूस जो रहा है.'

इस ट्वीट के बाद रविंदर सिंह के लिए लोग प्रार्थना करने लगे. खालसा Aid को दुनियाभर में मदद पहुंचाने वाली संस्था कहा जाता है. परिस्थिति कैसी भी हो चाहे प्राकृतिक आपदा हो या मानवीय, संस्था के लोग ज़रूरतमंदों तक लंगर पहुंचाते हैं. 

संगठन को 2016 की लंदन बाढ़ के दौरान राहत देने, 2015 में युद्ध प्रभावित सीरिया में सहायता करने, 2017 में बांग्लादेश-म्यांमार सीमा पर रोहिंग्याओं के लिए शरणार्थी शिविर स्थापित करने, 2018 बाढ़ के बाद केरल के पुनर्निर्माण में मदद करना, ब्रिटेन में एनएचएस वर्कर और COVID-19 महामारी के दौरान भारत में गरीब लोगों को खाना खिलाने के लिए जाना जाता है.