आज के दौर में अगर कोई सच्ची इंसानियत निभा रहा है, तो वो सिख समुदाय है. देश-दुनिया में कहीं कोई विपत्ति आये, सिख समुदाय सबसे पहले मदद को आगे आता है. इन लोगों के लिये जो सर्वोपरि है, वो है इंसानियत.

langar
Source: khalsaaid

मदद के इसी क्रम को आगे बढ़ाते हुए एक बार फिर से 'ख़ालसा एड' ट्रक ड्राइवर्स की मदद को आगे आया है. UK के बॉर्डर बंद होने की वजह से बहुत से ट्रक ड्राइवर वहां फंसे रह गये हैं. मुसीबत में फंसे ड्राइवर्स की मदद के लिये 'ख़ालसा एड' ने उन्हें खाना देने की पहल की है. संगठन द्वारा भूखे ड्राइवर्स को रोज़ाना गर्मा-गरम खाना खिलाया जा रहा है.

रिपोर्ट के मुताबिक, इसके लिये रोज़ खाने की 800 प्लेट्स तैयार की जा रही हैं. प्लेट में गरम छोले-चावल होते हैं. इस दौरान वो ये सुनिश्चित करते हैं कि कोई भी शख़्स वहां भूखा न रहे. UK के Gravesend स्थिति एक गुरुद्वारे में सभी ड्राइवर्स के लिये भोजन बनाया जाता है. स्वयंसेवक और केंट पुलिस की मदद से उन तक खाना पहुंचाया जा रहा है.

sikh
Source: viewire

सच में हमें सिखों से इंसानियत सीखने की ज़रूरत है और इस पर अमल करने की भी. दुआ है मदद और इंसानियत का सिलसिला यूं ही जारी रहे.