एक क्रांतिकारी कदम उठाते हुए, सिर पर लाल चुनरी ओढ़े, हाथों में चूड़ी पहने, उत्तर प्रदेश की दो बहनों ने मंदिर में शादी कर ली. ये शादी वाराणसी के एक मंदिर में हुई. दोनों ही लड़कियों के परिवारवालों को ये रिश्ता मंज़ूर नहीं था.


ये लड़कियां उत्तर प्रदेश के रोहानिया की रहने वाली हैं. रिपोर्ट्स के अनुसार जब दोनों लड़कियां मंदिर में शादी करने गईं तो पुजारी ने शादी करवाने से मना कर दिया. लड़कियां अपनी बात पर अड़ी रहीं और आख़िर में पुजारी को मानना पड़ा.

शादी करने के बाद दोनों लड़कियों ने फ़ेसबुक पर एक तस्वीर डाली. स्थानीय लोगों ने ये शादी देखकर हो-हल्ला मचाया और लड़कियों को वहां से भागना पड़ा. बाद में पुजारी को ही शादी करवाने के लिए बुरा-भला कहा गया.

Source: Al Jazeera

सितंबर 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने 377 को ख़ारिज किया और इसी के साथ LGBQT+ समुदाय के लोगों को इस देश में पहचान दिलाई. लेकिन देश के कई लोग आज भी इस हक़ीक़त को नहीं मानते और समलैंगिकता को स्वीकार करने में झिझकते हैं.