प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कोरोना वायरस को लेकर देश को 5वीं बार संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने देश की गिरती अर्थव्यवस्था को ध्यान में रखते हुए 20 लाख करोड़ रुपये के 'विशेष आर्थिक पैकेज' की घोषणा की. देशभर में फ़िलहाल कोरोना वायरस के ख़िलाफ़ 'Lockdown 3' जारी है.

Source: livemint

आइये जानते हैं पीएम मोदी ने अपने संबोधन में क्या कुछ कहा- 

1- पीएम मोदी ने कहा कि, कोरोना संकट का सामना करते हुए, नए संकल्प के साथ मैं आज एक विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा कर रहा हूं. ये आर्थिक पैकेज, आत्मनिर्भर भारत अभियान' की अहम कड़ी के तौर पर काम करेगा. ये पैकेज 20 लाख करोड़ रुपये का होगा.  

2- पीएम मोदी ने कहा कि, लॉकडाउन का चौथा चरण यानि कि 'लॉकडाउन 4' पूरी तरह से नए रंग रूप वाला होगा, नए नियमों वाला होगा. राज्यों से हमें जो सुझाव मिल रहे हैं, उनके आधार पर 'लॉकडाउन 4' से जुड़ी जानकारी भी आपको 18 मई से पहले दी जाएगी. 

3- पीएम मोदी ने कहा कि, हाल में सरकार ने कोरोना संकट से जुड़ी जो भी आर्थिक घोषणाएं की थीं, जो रिजर्व बैंक के फ़ैसले थे और आज जिस आर्थिक पैकेज का एलान हो रहा है, उसे जोड़ दें तो ये क़रीब-क़रीब 20 लाख करोड़ रुपए का है. ये पैकेज भारत की GDP का क़रीब 10 प्रतिशत है. 

Source: indiatoday

4- पीएम मोदी ने कहा कि, आज हमारे पास साधन हैं, सामर्थ्य है, हमारे पास दुनिया का सबसे बेहतरीन टैलेंट है, हम Best Products बनाएंगे, अपनी Quality को और बेहतर करेंगे, सप्लाई चेन को और आधुनिक बनाएंगे, ये हम कर सकते हैं और हम ज़रूर करेंगे. 

5- पीएम मोदी ने कहा कि, आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को सिद्ध करने के लिए, इस पैकेज में Land,Labour,Liquidity और Laws,सभी पर बल दिया गया है. ये आर्थिक पैकेज हमारे कुटीर उद्योग, गृह उद्योग, हमारे लघु-मंझोले उद्योग, हमारे MSME के लिए है, जो करोड़ों लोगों की आजीविका का साधन है, जो आत्मनिर्भर भारत के हमारे संकल्प का मजबूत आधार है. 

6- पीएम मोदी ने कहा कि, ये संकट इतना बड़ा है कि बड़ी से बड़ी व्यवस्थाएं हिल गई हैं. लेकिन इन्हीं परिस्थितियों में हमने, देश ने हमारे ग़रीब भाई-बहनों की संघर्ष-शक्ति, उनकी संयम-शक्ति का भी दर्शन किया है. 

Source: livemint

7- पीएम मोदी ने कहा कि, कोरोना संक्रमण से मुक़ाबला करते हुए पूरी दुनिया को अब 4 महीने से अधिक का समय होने जा रहा है. लेकिन एक वायरस ने दुनिया को तहस-नहस कर दिया है. विश्व भर में करोड़ों ज़िंदगियां संकट का सामना कर रही हैं.  

8- पीएम मोदी ने कहा कि, थकना, हारना, टूटना-बिखरना, मानव को मंजूर नहीं है. सतर्क रहते हुए, ऐसी जंग के सभी नियमों का पालन करते हुए, अब हमें बचना भी है और आगे बढ़ना भी है. 

9- पीएम मोदी ने कहा कि, एक राष्ट्र के रूप में आज हम एक अहम मोड़ पर खड़े हैं. इतनी बड़ी आपदा, भारत के लिए एक संकेत लेकर आई है, एक संदेश लेकर आई है, एक अवसर लेकर आई है.  

Source: business

10- पीएम मोदी ने कहा कि, जब कोरोना संकट शुरु हुआ था, तब भारत में एक भी पीपीई (PPE) किट नहीं बनती थी. भारत में N-95 मास्क का नाममात्र उत्पादन होता था. लेकिन आज स्थिति ये है कि भारत में हर रोज 2 लाख PPE और 2 लाख N-95 मास्क बनाए जा रहे हैं. 

11- पीएम मोदी ने कहा कि, 21वीं सदी भारत की हो, ये हमारा सपना नहीं, बल्कि ये हम सभी की ज़िम्मेदारी है. विश्व की आज जो स्थिति वो हमें सिखाती है कि इसका मार्ग एक ही है- 'आत्मनिर्भर भारत'.