22 मई को मध्यप्रदेश के सिवनी जिले में 'गौमांस' के शक़ में 5 लड़कों ने मुस्लिम समुदाय के युवक को पेड़ से बांध कर बुरी तरह से पीटा. यही नहीं बाद में उससे जब़रदस्ती 'जय श्री राम' के नारे भी लगवाए. श्रीराम सेना के इन लोगों को शक़ था कि वो गौमांस लेकर जा रहा है. इस घटना का ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसके बाद पुलिस हरकत में आई.

सोशल मीडिया पर वायरल हुई वीडियो के बाद शुक्रवार को मध्यप्रदेश पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया. इस वीडियो में गौरक्षा के नाम पर 5 लड़कों ने 3 लोगों को सिर्फ़ इसलिए मारा क्योंकि उन्हें शक था कि वो 'बीफ़' यानि 'गौमांस' लेकर जा रहे हैं. इन 3 लोगों में एक महिला भी थी. इस दर्दनाक वीडियो में देखा जा सकता है कि वो पांचों लोग ज़बरदस्ती उनसे 'जय श्री राम' के नारे लगवा रहे थे. 22 मई को हुई इस घटना का पता पुलिस को तब लगा जब वीडियो वायरल हो गई.

Source: Sreenivasan Jain

डुंडा सिवनी पुलिस स्टेशन इंचार्ज गणपत उइके ने कहा कि 'पुलिस ने पांचो लोगों को पकड़ लिया है. इनमें पांच लड़कों के नाम शुभम बघेल, योगेश यूइकी, दीपेश नामदेव, रोहित यादव और श्याम देहरिया हैं. इन पांचों पर IPC सेक्शन 143, 148, 149, 341, 294, 323, 506 और सेक्शन 25 आर्म के तहत केस दर्ज किया गया है'.

बता दें कि 22 मई को गौरक्षा कर्मियों ने पुलिस को सूचना दी थी कि खैरी गांव में ऑटोरिक्शा और 2 व्हीलर पर गौमांस लेकर जाया जा रहा है, जिसके बाद तौफ़िक, अंजुम शर्मा और दिलीप मालविया को Anti-Cow Slaughter Act के तहत ज्यूडिशियल कस्टडी में भेज दिया गया था. सिवनी एसपी, ललित शाक्यावर ने कहा कि अब सिचुएशन पूरी तरह से अंडर कंट्रोल है.

पुलिस स्टेशन इंचार्ज गणपत ने कहा कि वीडियो वायरल होने के बाद उन 3 लोगों (जिनकी पिटाई हुई थी) के किसी रिश्तेदार ने FIR दर्ज कराई. गणपत ने कहा कि आरोपी शुभल बघेल श्रीराम सेना से ताल्लुक रखता है और भोपाल से नवनिर्वाचित सांसद, प्रज्ञा ठाकुर का करीबी है.