इन दिनों देशभर में प्लास्टिक बैन को लेकर मुहिम ज़ोरों पर है. सरकार ने प्लास्टिक पर पूरी तरह से रोक लगा दी है.

इस बीच महाराष्ट्र के बीड ज़िले से एक अजीबो-ग़रीब ख़बर सामने आई है. अपने दफ़्तर में प्लास्टिक के कप में चाय पीने के बाद बीड के डीएम आस्तिक कुमार पांडे ने ख़ुद पर ही 5,000 रुपये का जुर्माना ठोक दिया.

Source: news18

इस अनोखे घटना कर्म के बाद मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक डीएम आस्तिक कुमार की ही चर्चा हो रही है. हर कोई उनकी इमानदारी के लिए उनकी तारीफ़ कर रहा है.

Source: wordtoword

दरअसल, आईएएस अधिकारी आस्तिक कुमार पांडे इन दिनों महाराष्ट्र के बीड ज़िले में तैनात हैं. गुरुवार को उन्होंने बीड ज़िले में चुनावी तैयारियों को लेकर पत्रकारों को सूचित करने के लिए एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस बुलाई थी.

प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान विभागीय कर्मचारियों ने मेहमानों को चाय देते समय प्लास्टिक मिश्रित कप का इस्तेमाल किया. इस दौरान वहां मौजूद सभी पत्रकारों को प्लास्टिक के कप में चाय दी गई. हालांकि कई पत्रकारों ने चाय पीने से इनकार कर दिया.

Source: news18

इस दौरान एक रिपोर्टर ने प्लास्टिक के इस्तेमाल को लेकर सवाल उठाया कि हाल ही में एक ग़रीब किसान उम्मीदवार ने अपनी जमा राशि का भुगतान करने के लिए प्लास्टिक की थैली का इस्तेमाल किया था. इस दौरान उस उम्मीदवार पर 5,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया था. जबकि जिलाधिकारी कार्यालय में प्लास्टिक के कप में चाय दी जा रही है ऐसा क्यों?

Source: newsstate

इसके बाद डीएम आस्तिक कुमार पांडे ने वहां उपस्थित सभी पत्रकारों के सामने ख़ुद की ग़लती स्वीकार की और ख़ुद के ऊपर 5,000 रुपये का जुर्माना ठोक दिया.

महाराष्ट्र में ये इस तरह का पहला मामला है, जब किसी कलेक्टर ने ख़ुद के ख़िलाफ़ ही दंडात्मक कार्रवाई की है.