बीते सोमवार को जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में मेरठ के रहने वाले मेजर केतन शर्मा शहीद हो गए. आज उन्हें पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई. इस दौरान केतन की 4 साल की बेटी कायरा ने पिता को सैल्यूट कर अंतिम विदाई दी.

Source: jagran.com

मंगलवार दोपहर 3 करीब मेजर केतन का शव उनके गृह नगर मेरठ पहुंचा. इस दौरान शहीद बेटे का शव देखते ही मां ने सैन्य अफ़सरों से बिलखते हुए पूछा, 'मुझे बता दो मेरा शेर बेटा कहां गया? कब आएगा?'.

Source: bhaskar.com

सोमवार को कश्मीर के अंनतनाग में एक मकान के अंदर तीन आतंकवादी घुस आये थे. इस दौरान मेजर केतन अपनी टीम के साथ ऑपरेशन को लीड कर रहे थे. काफ़ी देर तक फ़ायरिंग होती रही, इसके बाद केतन की टीम ने दो आतंकवादियों को मौके पर ही मार गिराया.

Source: bhaskar.com

इस दौरान जब एक आंतकवादी भागने लगा, तो केतन और उनकी टीम ने उस पर फ़ायरिंग की. जवाब में आतंकी ने भी फ़ायरिंग की, जिसमें गोली लगने से केतन समेत उनके दो साथी भी घायल हो गए, बावजूद इसके टीम ने तीसरे आंतकवादी को भी मार गिराया. सभी घायल जवानों को तुरंत आर्मी अस्पताल ले जाया गया लेकिन इलाज के दौरान मेजर केतन शहीद हो गए.

Source: bhaskar.com

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक़, सोमवार को इस घटना से कुछ समय पहले ही मेजर केतन ने अपने फ़ैमिली Whatsapp ग्रुप पर अपनी एक तस्वीर शेयर की थी. जिसके कैप्शन में लिखा था 'शायद ये मेरी आख़िरी तस्वीर होगी'.

बचपन से ही सेना में अफ़सर बनना चाहते थे केतन

Source: bhaskar.com

मेरठ में कंकरखेड़ा इलाके के श्रद्धापुरी में रहने वाले मेजर केतन बचपन से ही सेना में अफ़सर बनना चाहते थे. साल 2011 में देहरादून स्थित IMA जॉइन किया था. पासिंग आउट परेड के बाद उन्होंने साढ़े तीन साल तक पुणे में ट्रेनिंग की. उसके बाद उनकी पोस्टिंग मेरठ की 57 इंजीनियर रेजीमेंट में हुई. कुछ दिन मेरठ में रहने के बाद उनकी तैनाती जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में मेजर पद पर हो गई थी.

Source: bhaskar.com

मेजर केतन शर्मा के परिवार में माता-पिता, पत्‍नी इरा शर्मा और 4 साल की बेटी कायरा हैं. केतन 27 मई को ही छुट्टी से वापस कश्‍मीर लौटे थे.

Source: bhaskar.com

पिता रविंद्र शर्मा ने बताया कि बेटे केतन ने ठान लिया था कि उसे सेना में अफ़सर ही बनना है. उसके इरादे व हौसला देखकर मैंने उसे कभी रोका नहीं और जितना हो सका उसे सपोर्ट किया. उन्हें केतन की शहादत पर गर्व है.

शहीद मेजर केतन शर्मा के परिवार ने कहा, 'सरकार पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दे. सरकार शहादत का बदला ले और बार-बार की लड़ाई बंद करे.'