देश में कोरोना वायरस जितना तेज़ी से नहीं फ़ैला, उससे तेज़ वायरस से जुड़ी अफ़वाहें फ़ैल रही हैं. ऐसे-ऐसे इलाज़ के दावे सामने आ रहे हैं कि ज़ालिम दवाखाना वाला भी एक पल को शरमा जाए. ऊपर से विविधता में एकता भी चरम पर है. मने इलाज़ में धार्मिक भेदभाव नहीं हो रहा. हर कोई कुछ भी बेचने पर आमादा है.

Indianexpress की रिपोर्ट के मुताबिक़, पुलिस ने पश्चिम बंगाल के हुगली जिले के डानकुनी से एक 50 साल के दूध विक्रेता माबूद अली को गिरफ़तार किया है. उस पर गोबर और गोमूत्र बेचने के साथ ही लोगों को धोखा देने और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप है.

Source: indianexpress

अली ने दिल्ली को कोलकाता से जोड़ने वाले नेशनल हाइवे पर अस्थाई दुकान लगा रखी थी. यहां वो 500 रुपये लीटर की दर से गोमूत्र और 500 रुपये किलो गोबर बेच रहा था. अली लोगों को भरोसा दे रहा था कि गोमूत्र व गोबर के सेवन से कोरोना वायरस का खतरा नहीं रहेगा.

अली को गिरफ़्तार कर हुगली में कोर्ट के सामने पेश किया गया, जहां से उसे चार दिन न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

हुगली जिले के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, अली को भारतीय दंड संहिता की धारा 295A (जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्यों, धार्मिक भावनाओं को अपमानित करने का इरादा) और 120B (आपराधिक साजिश के लिए सजा) के तहत मामला दर्ज किया गया है. साथ ही जादू उपचार (आपत्तिजनक विज्ञापन) अधिनियम, 1954 के तहत भी मामला दर्ज किया गया है. ये सभी गैर-जमानती अपराधों की श्रेणी में आते हैं.

Source: news24online

एक अन्य मामले में पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ़ प्राथमिकी दर्ज की है. कोलकाता पुलिस के एक होमगार्ड ने शिकायत की है कि उसे गुमराह करके चरणामृत के नाम पर गोमूत्र दिया गया. बताया गया कि एक स्थानीय भाजपा नेता ने गोमूत्र पार्टी का आयोजन किया था. मंगलवार को जोरबगन पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया.

हालांकि, इन सबके बीच पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने दावा किया है कि गोमूत्र वितरण कोई अपराध नहीं है.

‘जो लोग गोमूत्र का विरोध कर रहे हैं, उनमें से कई ने तो खुद चुपके से इसका सेवन कर लिया है. मैंने भी कई बार गोमूत्र का सेवन किया है और स्वस्थ्य रहने के लिए इसका सेवन करता रहूंगा. ये सिर्फ़ गोमूत्र की बिक्री रोकने के लिए नाटक चल रहा है. जिन लोगों को गोमूत्र का सेवन करने में विश्वास है वो ऐसा करना जारी रखेंगे.’

मंगलवार को भी, भाजपा ने उत्तर दिनाजपुर जिले के रायगंज में गोमूत्र को लेकर एक कार्यक्रम का आयोजन किया. स्थानीय भाजपा नेताओं ने एक गाय शेड में जाकर गोमूत्र पिया ताकि कोरोना वायरस से बचने में इसकी उपयोगिता का संदेश दे सकें. साथ ही गायों की पूजा और प्रार्थना भी की.