बेंगलुरु के एक शख़्स को पिज़्ज़ा खाने का श़ौक महंगा पड़ा गया. ज़ोमैटो से पिज़्ज़ा खाने के चक्कर में बेचारा अपने अकाउंट से 95 हज़ार गवां बैठा.

Source: The News Minute

1 दिसंबर को दिन के डेढ़ बजे N. V. Sheik ने पिज़्ज़ा ऑर्डर किया. पुलिस के अनुसार, एक घंटा इंतज़ार करने के बाद भी जब उसका ऑर्डर डिलिवर नहीं हुआ तो उसने गूगल कर कस्टमर केयर सर्विस को फ़ोन किया.

फ़ोन पर उसे पता चला कि वो रेस्टोरेंट ऑर्डर एक्सेप्ट नहीं कर रही, उसका पैसा रिफंड कर दिया जाएगा. कस्मटमर केयर एग्ज़िक्युटिव बन कर बात करने वाले शख़्स ने आगे उससे कहा कि फ़ोन कट करने के बाद उसे एक मैसेज प्राप्त होगा, जिस पर क्लिक करते ही उसके रिफ़ंड की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

इस केस की पड़ताल करने वाली Madiwala पुलिस ने बताया कि जैसे ही Sheikh ने बैंक अकाउंट पर क्लिक किया वो, जालसाज़ों के झांसे में आ गया और उसके बैंक से जुड़ी जानकारियां उनके पास चली गई.

तुरंत ही उसके अकाउंट से 45 हज़ार रुपये कट गए. जबतक वो अपने बचे हुए पैसे दूसरे अकाउंट में ट्रांसफ़र करता, दोबारा से 50 हज़ार कट चुके थे.

विभिन्न माध्यमों से हम लागातार अपने ग्राहकों को बताते रहते हैं कि हमारा ग्राहक सेवा नंबर नहीं है. चैट और ई-मेल के ज़रिए ही हम कम्युनिकेट करते हैं.

N. V. Sheik ने गूगल पर ज़ोमैटो ग्राहक सेवा का नंबर ढूंढा था, जहां उसे किसी जालसाज़ का नंबर मिल गया और उसके साथ ये घटना हो गई और सबसे बुरी बात ये हुई कि बैंक अकाउंट से 95 हज़ार कटने के बाद भी उसे पिज़्ज़ा नहीं मिला.