फ़िल्मों में जब हम जुड़वां भाई या बहन पर बनी कोई फ़िल्म देखते हैं, तो ख़ूब हंसते हैं. पर्दे पर मज़ेदार कंफ़्यूज़न को देख हंसी आना लाज़मी भी है. मसलन, ग़लत काम दूसरा भाई कर रहा है, और सज़ा उसके जुड़वां को मिल रही है. एक एकदम सीधा-सादा है, तो दूसरा हद नंबरी. जुड़वा का ये कंफ़्यूज़न फ़िल्मों में भले हंसाता हो, मगर रियल लाइफ़ में बेहद ख़तरनाक साबित हो सकता है.

twin
Source: 365dm

ये भी पढ़ें: इन 14 हॉलीवुड और बॉलीवुड स्टार्स की शक्ल देखकर, कोई भी कहेगा 'आईला जुड़वा!'

अमेरिका के Kevin Dugar के साथ ऐसा हुआ भी है. ये शख़्स पिछले 20 साल से उस अपराध की सज़ा काट रहा था, जो उसने कभी किया ही नहीं. अब उसे रिहा किया गया है, क्योंकि उसके जुड़वां भाई ने अपना ज़ुर्म क़ुबूल किया है.

रिपोर्ट के मुताबिक, Kevin को गैंग रिलेटड शूटिंग के मामले में साल 2005 में दोषी ठहराया गया था. आरोप था कि साल 2003 उसने शिकागो के अपटाउन क्षेत्र में गोलियां चलाई थीं, जिसमें एक शख़्स की मौत हो गई थी, जबकि एक दूसरा शख़्स घायल हुआ था. इस जुर्म के लिए उसे 54 साल तक सलाखों के पीछे गुज़ारने की सज़ा मिली थी.

Jail
Source: 365dm

हालांकि, Kevin ने ये अपराध किया ही नहीं था. उसने जज के आगे गुहार भी लगाई, मगर किसी ने उसकी नहीं सुनी. Kevin को भी नहीं पता था कि आख़िर उसका नाम इस केस में कैसे आ गया. मगर 2013 में Kevin के जुड़वां भाई Karl Smith ने उसे एक चिट्ठी लिखकर अपना गुनाह क़ुबूल कर लिया. उसने बताया कि ओपन शूटिंग करने वाला शख़्स कोई और नहीं, बल्कि वो ख़ुद था. 

Karl ने अपना अपराध तो स्वीकार कर लिया, मगर उस वक़्त के जज ने उसे नहीं माना. ऐसे में Kevin को रिहा नहीं किया गया. दरअसल, Karl पहले से एक केस में 99 साल जेल की सज़ा काट रहा है. ऐसे में वकीलों का कहना था कि वो अपराध अपने सिर पर इसलिए ले रहा है, क्योंकि उसके पास खोने को कुछ नहीं है. 

Karl Smith
Source: ladbible

हालांकि, नॉर्थवेस्टर्न प्रिट्जर स्कूल ऑफ़ लॉ सेंटर ऑन रॉन्गफुल कन्विक्शन्स के एक वकील ने Kevin के मामले को फिर उठाया. इस बार जज दूसरा था, और उसने Kevin के पक्ष में फ़ैसला दिया और उसे रिहा कर दिया गया है. ये भी बता दें कि कोर्ट ने रिहा तो कर दिया है, मगर स्टेट की तरफ़ से अभी केस ड्रॉप नहीं किया गया है. ऐसे में अगर केस ड्रॉप नहीं हुआ, तो एक बार फिर उस पर ट्रॉयल शुरू हो सकता है. कुक काउंटी राज्य के अटॉर्नी ऑफ़िस ने अभी इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं की है. 

बेकसूर होने के बाद भी Kevin की ज़िंदगी के 20 साल जेल में कट गए. इस दौरान पूरी दुनिया बदल चुकी है. रिहा होने के बाद उसकी आंखों में आंसू थे. उम्मीद यही है कि वो अपनी बची हुई ज़िंदगी ख़ुशी के साथ बिता पाए.