टेक्नॉलॉजी (इंटरमीडियरी गाइडलाइन्स ऐंड डिजिटल मीडिया एथिक्स कोड) रूल्स 2021 के तहत बीते सोमवार को मणिपुर के एक पत्रकार, Paojel Chaoba को नोटिस भेजा गया. 

Source: Media One TV

Outlook की रिपोर्ट के अनुसार, Chaoba को ये नोटिस Chaoba को उनके संस्था The Frontier Manipur (TFM) पर रखे गये एक डिस्कशन में हिस्सा लेने के लिए भेजा गया.  

Khanasi Neinasi (आइए बात-चीत करते हैं) ऑनलाइन डिस्कशन, नये डिजिटल मीडिया रूल्स पर ही रखा गया था. इस डिस्कशन का टाइटल 'Media Under Seige: Are Journalists Walking A Tight Rope' था और इसे TFM के फ़ेसबुक पेज पर अपलोड किया गया था.  

Paojel Chaoba (TFM के एग्ज़ेकेटिव एडिटर), Grace Jajo (स्वतंत्र पत्रकार), Ninglun Hanghal (कॉलमनिस्ट, फ़्रीलांस पत्रकार),इस डिस्कशन में पैनलिस्ट्स थे. TFM एक मीडिया संस्था है और नये टेक्नॉलॉजी रूल्स के तहत देश का पहला नोि, पाने वाली संस्था भी बन गई है. पत्रकार Chaoba और TFM को ज़रूरी दस्तावेज़ जमा करने के निर्देश दिए गए हैं. 

Source: Twitter

फ़ेसबुक पर डिस्कशन अपलोड करने के बाद बीते 1 मार्च को Chaoba को Naorem Praveen Singh, इम्फ़ाल पश्चिम ज़िले के डीएम से नोटिस मिला. ये नोटिस Khanasi Neinasi के पब्लिशर के नाम था.    

Hindustan Times की एक रिपोर्ट के अनुसार, प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि डीएम नोटिस इश्यू नहीं कर सकते. सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सेक्रेटरी अमित खरे ने मणिपुर चीफ़ सेक्रेटरी, राजेश कुमार को चिट्ठी लिखकर कहा कि नए क़ानून के हिसाब से राज्य सरकार, ज़िलाधिकारी या पुलिस कमिश्नर को नियम पालन करवाने का अधिकार नहीं दिया गया है. चिट्ठी के अनुसार, मंत्रालय ही नये नियमों को लागू करवाएगा. 

बीते मंगलवार को Chaoba को ज़िलाधिकारी की तरफ़ से एक और नोटिस मिला, जिसमें पुराने नोटिस को वापस लेने की बात लिखी गई थी.