मणिपुर के मुख्यमंत्री एन. बिरेन सिंह ने एक महिला ऑटो चालक को हाल ही में 1,10,000 रुपये का इनाम दिया है. लोग सोशल मीडिया पर उनके इस नेक काम की तारीफ़ भी कर रहे हैं.  

दरअसल, इस महिला ऑटो चालक ने एक कोरोना से ठीक हुई महिला को रात में 140 किमी की दूरी तय कर उसे अपने घर पहुंचाया था.  

imphal
Source: twitter

इंफ़ाल में राजकीय जवाहरलाल नेहरु इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंसेस में जहां इस महिला का इलाज चल रहा था, सूचना विभाग ने एक प्रेस रिलीज़ जारी कर बताया कि एम्बुलेंस सेवा ने उसे घर ले जाने से मना कर दिया था क्योंकि वो दूसरे ज़िले की है.  

महिला कमजोंग ज़िले की निवासी है.  

जब इस बात का पता लाइबी ओइनम को चला तो उन्होंने उस महिला को उनके घर सही सलामत छोड़ने के लिए वॉलंटियर किया.   

Laibi Oinam
Source: twitter

लाइबी ने 31 मई की रात को इंफाल से 140 किमी की यात्रा की शुरुवात की. महिला को उनके ज़िले छोड़ने में उन्हें 8 घंटे का समय लगा. 

इस बात की जानकारी ख़ुद मणिपुर के सीएम ने ट्वीट करके दी. उन्होंने लिखा, “मुझे पेंगई की ऑटो ड्राइवर लाइबी ओइनम को इनाम के तौर पर 1,10,000 रुपए देते हुए गर्व महसूस हो रहा है, जिन्होंने परेशानी उठाते हुए 8 घंटे का सफर तय कर जेएनआईएमएस से डिस्चार्ज़ लड़की को आधी रात में कमजोंग पहुंचाया. उन्होंने सही मायने में कड़ी मेहनत और ख़ुद से ऊपर सेवा करने का उदाहरण पेश किया है.” 

लाइबी मणिपुर की पहली महिला ऑटो ड्राइवर हैं. वो इंफाल के पेंगई बाजार में अपनी मां और दो बेटों के साथ रहती हैं. लाइबी अपने परिवार में अकेली कमाने वाली हैं. 

ये इनाम कई उद्यमियों और मणिपुर निवासियों द्वारा प्रायोजित किया गया है.  

लाइबी पर Auto Driver नाम से एक डाक्यूमेंट्री बनी है जिसको कई फ़िल्म अवॉर्ड्स मिले हैं.